थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत २१ अगहन २६४६, बुध ]
[ वि.सं २१ मंसिर २०७९, बुधबार ]
[ 07 Dec 2022, Wednesday ]

पहुरा दैनिकके १८ बरसके यात्रा

पहुरा | १ श्रावण २०७७, बिहीबार
पहुरा दैनिकके १८ बरसके यात्रा

कहठै एक ठो टेलुवा लगैना भारी बाट नाइहो उहीहे बह्रा पौह्राके जवान कैना बहुट मिहिनेत, समय ओ खर्च लागठ जत्र लगाईबेर मिहिनेत नइलागठ । ओस्टे आज एक ठो पत्रिकाके प्रकाशन सुुरु जेफे करे सेकठ मने उहीहे निरन्तरटा डेना भारी बाट हो । थारु पत्रकारिताके इतिहास खासे लम्मा नै हो । चार दशक आघे फाट्टफुट्ट पत्रपत्रिका ओ मुखपत्र प्रकाशन हुईल विल्गाइठ । समाचारमूलक पत्रिकाके इतिहास और छोट बा । २०५३ सालओर कैलालीसे सबसे पहिले जोखन रत्गैंया ‘मुक्ति डगर’ साप्ताहिक पत्रिका शुरुवात कर्ले रहैं । जौन पत्रिका खासे ढेरदिन निरन्तरता नैपाइल । ओकर बाद बर्दियासे गोपाल दहितके सम्पादनमे ‘मैगर हमार सन्देश’ साप्ताहिक पत्रिका ओ २०५९ सालमे अव्यस्थित वस्ती समाधान समाज नामक गैर सरकारी संस्थासे मुखपत्रके रुपमे ‘निसराउ’ साप्ताहिक कैलालीसे प्रकाशन हुईल ऊ फे एक दर्जन अंकमे ओरागिल ।

अपन जोस जाँगरके साथ कैलालीसे २०६० सालसे पहुरा साप्ताहिक सुरु हुईल । आर्थिक व्यवस्थापन ओ जनशक्तिके कमीसे पहुरा चल्ती चल्ती फेन मुर्झुराई परल रहिस ओकर काँध ठप्ना काम २०६२ साल पुस महिनासेफे अर्धसाप्ताहिक रुपमे कैलालीसे ‘हमार पहुरा’ फेर झल्कल । अर्धसाप्ताहिक प्रकाशन हुईटी हुईटी २०६३ साउन ३ गतेसे ‘हमार पहुरा’ दैनिक रुपमे प्रकाशन सुरु करल । मने हमार पहुरा २०६६ सालमे कम्जोर व्यवस्थापनके कारण विश्राम लेहे परलिस । ओकरपाछे २०६० सालमे जलम लेहल पहुरा अर्धसाप्ताहिकसे २०६६ चैत २९ गतेसे दैनिक प्रकाशन सुरु करके अभिन निरन्तरता डेटी नेपालके इतिहासमे अपन नाउँ धारे सफल हुइल बा । नेपाल प्रेस काउन्सिलसे थारु भाषा ओ पत्रकारितामे विशेष योगदान करल कहटी २०६७ सालमे प्रेस काउन्सिल भाषागत पत्रकारिता पुरस्कारसे पहिल बार सम्मानित हुइल । कलेसे अभिनसम नेपाल प्रेस काउन्सिलके ‘क’ वर्गमे रहल बा । हरेक पाइला आघे बढैना क्रममे पहुराहे टमान बाधा, व्यावधान, सुख, दुःख कष्टके बाबजुत गोम्हन्या करटी आज १८ औं वर्षमे प्रवेश करले बा । यी पत्रिकाके विधिवत जलम २०५९ चैत २६ गते (साप्ताहिक) रहलेसे फेन प्राविधिक कारणसे सावन १ गते वार्षिकोत्सव मनैटि आगिल बा ।

नेपालमे टमान थारु भाषक साप्ताहिक, अर्धसाप्तहिक, मासिक, त्रैमासिक ओ अर्धसाप्तहिक पत्रिका प्रकाशित हुइटी रहलेसे ओइने समय–समय बन्द हुइल ओ फेरसे प्रकाशन हुइना हुइल बा मने पहुरा थारु दैनिक नेपाल भरमे दैनिक प्रकाशन करटी अभिनसम निरन्तरता डेले बा । पत्रिका यहाँसम पुग्नामे सक्कु थारु, गैरथारु, सरकारी, गैरसरकारी लगायत शुभचिन्तक सहयोगी, विज्ञापनदाता हुक्रनके बरवार सहयोग ओ सल्लाह रहल । ओकर अतिरिक्त यिहीहे आघे पुगाईक लाग थप सहयोग ओ सुझावके आवश्यकता पहुरा परिवार महशुस करले बा । आशा बा अपनेनके अमूल्य सुझाव ओ सहयोग हमार साथ रही ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू