थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत २३ अगहन २६४६, शुक्कर ]
[ वि.सं २३ मंसिर २०७९, शुक्रबार ]
[ 09 Dec 2022, Friday ]

जितिया पर्वसे सद्भाव ओ प्रेमके सन्देश प्रवाह करठ: प्रधानमन्त्री ओली

पहुरा | २४ भाद्र २०७७, बुधबार
जितिया पर्वसे सद्भाव ओ प्रेमके सन्देश प्रवाह करठ:  प्रधानमन्त्री ओली

काठमाडौं, २४ भदौ । प्रधानमन्त्री केपी शर्मा ओली जितिया पर्वसे परस्परमे सद्भाव ओ प्रेमके सन्देश प्रवाह कैना बटैले बाटै ।

पूर्वी तराईवासी ओ थारु महिलासे मनैना जितिया पर्वके अवसरमे शुभकामना सन्देश डेटी उहाँ अपन परिवारके सदस्यके सुस्वास्थ्य ओ दीर्घायुके कामना करटी महिलासे व्रत बैठके मनैना जितिया जैसिन पर्वसे हम्रहिनहे परस्पर एकता, सहिष्णुता, सद्भाव ओ सुदृढ एकतामे आवद्ध करल समेट बटैलै ।

कोभिड–१९ के विश्वव्यापी महामारीके कारण यी वरस अपन पर्व मनाईबेर घरेम बैठके सावधानीपूर्वक मनाई पर्ना अवस्था उत्पन्न हुइल जनैटी उहाँ अपने सुरक्षित रहटी जितिया पर्व मनैना आह्वानसमेत करलै ।

आश्विन कृष्णपक्षके सप्तमी, अष्टमी ओ नवमी करके तीन दिन मनैना यी पर्वके सप्तमीके दिनहे लाहा खाके, अष्टमीके दिनहे उपास ओ नवमीके दिनहे पारन कहठै । सप्तमीके सकारे बर्तालु लडियामे जाके लाहीके खरी पिना प्रयोग करके लहाइलपाछे कुछ खरीहे घिरौंँलाके पटियामे धारके खोलामे पुहैना चलन बा ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू