थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत २९ सावन २६४६, अत्वार ]
[ वि.सं २९ श्रावण २०७९, आईतवार ]
[ 14 Aug 2022, Sunday ]

कैलारी सूचना प्रविधिमैत्री बन्टी

पहुरा | २८ कार्तिक २०७७, शुक्रबार
कैलारी सूचना प्रविधिमैत्री बन्टी

सामुदायिक सूचना प्रविधि केन्द्र स्थापनासे जानकारी लेना सहजुल

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, २८ कार्तिक ।
कैलारी गाउँपालिका पहिले सक्कु विकासे योजना ओ गतिविधि रातो किताब मार्फत जानकारी कराए । मने अब्बे सामुदायिक सूचना प्रविधि केन्द्रसंगे सर्वसाधारणहुकन योजनाके जानकारी तथा गतिविधिके जानकारी लेहना सहजुल हुइल बा । सूचना प्रविधि केन्द्र गाउँपालिका कार्यालयमे, वडा नम्बर ५ के कार्यालय ओ वडा नम्बर ८ के कार्यालयममे स्थापना कैगिल बा ।

गाउँपालिकाके तीन ठाउँमे सामुदायिक सूचना प्रविधि केन्द्र स्थापना हुइलपाछे सार्वसाधारण घर बैठे मोवाइलमे सक्कु गतिविधिबारे जानकारी लेहे सेक्ना सुविधा हुइल गाउँपालिका उपाध्यक्ष लक्ष्मी सत्गौंवा बटैली ।

गाउँपालिकाके सक्कु गतिविधि योजनाबारे जानकारी ‘अपन ठाउँक गतिविधि, योजनाके सूचना लेहे पैना सर्वसाधारणके नैसर्गिक अधिकार हो’, उपाध्यक्ष कहली, ‘लालकिताव, सार्वजनिक सुनुवाई कार्यक्रम करके केल आम समुदायहे सक्कु सूचना डेना साध्य नइहो, प्रविधिके विकाससंगे सचेत यूवा, आम नागरिक आब अपन गाउँठाउँके योजना जहाँसेफे हेरेपैना व्यवस्था हुइल ।’
गाउँपालिका सूचना प्रविधिसे जोरलपाछे सेवाग्राही ओ सेवाप्रदायकविच आपसी सम्बन्ध सुमधुर बनल बा, कौनो ठाउँमे सूचना नुकल नइहो कलेसे सेवाग्राहीमे ओस्टेफे सन्तुष्टि हुजाइठ उहाँ कहली ।

गाउँपालिकाके सक्कु योजनाके विस्तृत जानकारी सूचना प्रविधिमे अपलोड हुइटी बा, उपाध्यक्ष कहली, –‘कैलाली गाउँपालिका सूचना प्रविधिमे जोरलसंगे योजनाके विस्तृत जानकारी छर्लङ हेरे सेक्ना व्यवस्था बा, जिहीसे सुशासनमे सहयोग पुगी ।’

उपाध्यक्ष सत्गौवा कहली, ‘सूचना प्रविधि केन्द्र कैलारी गाउँपालिकाके कार्यालय, ५ नम्बर वडा कार्यालय पवेरा ओ वडा नम्बर ८ के कार्यालय मोहनी बजारमे जडान हुइल बा,’ गाउँपालिकामे स्थापना कैगिल सामुदायिक सूचना केन्द्रमे सक्कु वडाके योजना बजेट, सम्झौता मिति, योजना सम्पन्न मिति ओ उपभोक्ता समितिके विस्तुत जानकारी लेहे सेक्ना व्यवस्था बा, कलेसे वडा कार्यालयमे वडाभिटरके योजनाबारे जानकारी लेहे सेक्ना व्यवस्था बा ।’ कोरोना भाइरसके कारण ओस्टेफे जहाँटहाँ जैना, जिहीटिहीसे भेटघाट कैना कर्रा बा, सामुदायिक सूचना प्रविधि केन्द्र हुइलपाछे अब गाउँपालिका जैही पर्ना बाध्यता हटल उपाध्यक्ष सत्गौवा कहली ।

कैलारी गाउँपालिकामे ९५ प्रतिशत थारु समुदायके बसोबास रहल कारण सक्कु योजनाके विस्तुत जानकारीफे थारु भाषामे डेजैटी रहलफे उपाध्यक्ष सत्गौंवा बटैठी । सूचना प्रविधि केन्द्र स्थापना कैगिल बा, सक्कु जे सूचनाफे पागिलै कनाफे नइहो ग्रामीणस्तर, तल्लोस्तरमे यकर प्रक्रियाबारे अभिनसम थाहा हुई नइसेकल उपाध्यक्ष बटैठी । आरडीआरसीके ‘सुशासन परियोजना’ सूचना प्रविधि ओ हेरना प्रक्रियाबारे समय–समयमे जानकारी करैटी बा, हम्रेफे कार्यक्रम हुइलबेला जानकारी करैटी उहाँ कहली । गाउँपालिकाके नौ वडामे यी प्रविधि लागु कैना सोचके साथ इन्टरनेटके व्यवस्था कैनामे लागलफे उपाध्यक्ष बटैठी ।

सृजना समाज क्लवके अध्यक्ष शंकरप्रसाद चौधरी गाउँघरमे लागु हुइल योजनाबारे जानकारी लेहे पहिले गाउँपालिका वा वडा कार्यालय जाइट । आरडीआरसीके सुशासन परियोजना मार्फत सूचना प्रविधि केन्द्र स्थापन हुइलपाछे योजनाबारे जानकारी लेहक लाग गाउँपालिका कार्यालय वा वडा कार्यालय जाई पर्ना झंझटसे मुक्त हुइल उहाँ कहठै । कैलारी गाउँपालिका वडा नम्बर ५ के स्थानीय बासिन्दा समेट रहल उहाँ कहठै, हरेक यूवाके हातमे मोवाइल बा, योजनाके विस्तृत जानकारी सुचना प्रविधिमे अपलोड बा, समाज ओ विकासबारे चासो लेना यूवा घरबैठे सूचना हेरेसेक्जैना सुविधा बा ।

योजनाके बजेट, सम्झौता मिति, सम्पन्न मिति ओ उपभोक्ता समितिके पदाधिकारीके नाउँ ओ सम्पर्क नम्बर समेट उल्लेख हुइल कारण भ्रष्टाचारमे न्यूनिकरण हुइना उहाँ कहलै । प्रविधिमार्फत योजनाबारे प्रष्ट जानकारी डेहल कारण पारदर्शिता ओ जनताके विश्वासनियता बह्रना अध्यक्ष शंकर प्रसाद कहठै । वडा कार्यालयमे सूचना प्रविधि केन्द्र स्थापना लागु हुइलपाछे सूचना लेना झन सहजुल हुइल उहाँ बटैठै ।

कैलारी गाउँपालिका वडा नम्बर २ स्थित कैलारी स्मार्ट समन्वय यूवा क्लवके सदस्य अनिता चौधरी सूचना प्रविधिसे योजनाके विस्तृत जानकारी लेना सहजुल हुइल बटैठी । महिला, लक्षित वर्ग समुदायके बजेट, योजनाबारे गाउँपालिका वा वडा कार्यालयसे सूचना मागे जैनासेफे चाहलबेला मोवाइल एप मार्फत हेरे सेक्ना सुविधा पाइल उहाँ कहठी । सुशासन परियोजना मार्फत लेहल तालिमसे सूचना प्रविधि ओ प्रक्रियाबारे जानकारी पाइल उहाँ बटैठी ।

ओस्टेक कैलारी गाउँपालिका–६ के स्थानीय यूवा तथा तराई नेपालके सदस्य अमर चौधरी मोवाइल मार्फत गाउँघरके योजनाबारे जानकारी लेना सहजल हुइलपाछे ढिला सुस्ती काम कैना उपभोक्ता समिति या ठेकेदारहे सजग बनाइ सेक्ना बटैलै । ‘सूचना प्रविधिके तल्लोस्तरमे जानकारी नइहो,’ उहाँ कहठै–‘प्रविधिमे अपलोड हुइल योजना ओ हेरना प्रक्रियाबारे आम यूवाहे जानकारी डेहे सेक्लेसे समाज अपनही सचेत हुई ।’

सम्बन्धित समाचार

सामुदायिक सूचना प्रविधि केन्द्रके उद्घाटन

जनाअवजको टिप्पणीहरू