थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत ३० सावन २६४६, सोम्मार ]
[ वि.सं ३० श्रावण २०७९, सोमबार ]
[ 15 Aug 2022, Monday ]

एम्बुलेन्स खरिद प्रकरणमे अनियमिता हुइल ठहर

पहुरा | १५ असार २०७७, सोमबार
एम्बुलेन्स खरिद प्रकरणमे अनियमिता हुइल ठहर

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, १५ असार ।
सुदूरपश्चिम प्रदेश सरकारसे एम्बुलेन्स खरिद प्रकरणमे अनियमिता करल ठहर हुइल बा । सुदूरपश्चिम प्रदेश सभाके सार्वजनिक लेखा समिति अन्तर्गतके छानविन उपसमिति एम्बुलेन्स खरिदमे अनियमितता हुइल ठहर करल हो । समितिसे तयार पारल प्रतिवेदनमे सामजिक विकास मन्त्रालयसे एम्बुलेन्स खरिद प्रक्रियामे गम्भीर त्रुटी हुइल उल्लेख बा ।
छानविन उपसमितिके प्रतिवेदनमे उल्लेख हुइलअनुसार सम्झौता ६ करोड २५ लाख १२ हजारमे करके ६ करोड २६ लाख १३ हजार भुक्तानी डेहल, चार करोड ९८ लाख ९३ हजार पेस्की डेहल ओ फछ्यौट करेबर १ दशमल ५ प्रतिशत ओ ६ दशमलव ५ प्रतिशत मुल्य अभिवृद्धि कट्टी करल नैबिल्गाइल, १६ ठो एम्बुलेन्स खरिदमे प्रतिस्पर्धा नैकराइल, टाटाके सवारी साधनहे नियतवस जडान करके एम्बुलेन्स बनाइल, लागत अनुमान परिवर्तन करेबर फेरसे निर्णय नैकरल कहल बा ।
टाटाहे फाईदा पुग्न मेरके ईस्पेसिफिकेसन तयारी करके बोलपत्र आह्वान करल, एकठो एम्बुलेन्सके दुई ठो मितिमे दुई पटक प्राविधिक प्रतिवेदन तयार करे लगाके अख्तियारके दुरुपयोग करल, एम्बुलेन्सके ईस्पेसिफिकेसन तयार कर्र्ना मेकानिकल ईन्जिनियरसे मेसिन उपकरणहरुके जाँचपास करल, सम्झौता करेबर उपकरण टाटा कम्पनीके प्रयोग कर्ना कहलमे फरक–फरक कम्पनी ओ फरक–फरक उत्पादन वर्ष रहल उपकरणके प्रयोग हुइल ठहर छानविन उपसमिति कर्ले बा ।
सार्वजनिक लेखा समितिके सभापति नन्दाकुमारी बल छानविन उपसिमितिसे प्रतिवेदनउप्पर छलफल करल बटैली । सार्वजनिक लेखा समितिके सभापति नन्दाकुमारी बमके संयोजक रहल समितिमे प्रदेश सभा सदस्य कर्ण मल्ल, चुनकुमारी चौधरी, मिनाकुमारी साउँद ओ अर्चना गहतराज सदस्य रहल छानविन उपसिमिति प्रतिवेदन बनाइल हो ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू