थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत २३ अगहन २६४६, शुक्कर ]
[ वि.सं २३ मंसिर २०७९, शुक्रबार ]
[ 09 Dec 2022, Friday ]
‘ प्रदेश सरकार ओ प्रतिपक्षीबीचके छलफल निष्कर्ष विहिन ’

आज हुइना संसद बैठकफे प्रभावित हुइना सम्भवना

पहुरा | १८ असार २०७७, बिहीबार
आज हुइना संसद बैठकफे प्रभावित हुइना सम्भवना

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, १८ असार ।
सुदूरपश्चिम प्रदेश सभामे हुइटी रहल अवरोधबारे बुधके प्रदेश सरकार ओ प्रतिपक्षी दलबीच हुइल छलफल विना निष्कर्ष ओराइल बा ।
सरकार ओ प्रतिपक्षी दलबीचके छलफल निष्कर्षमे नइपुगलपाछे बिफे साँझके ३ बजे आह्वान करल संसद बैठकफे प्रभावित हुई सेक्ना सम्भावना बह्रल हो । प्रमुख प्रतिपक्षी दलके नेता डा. रणबहादुर रावल जबसम अपनेहुक्रे उठाइल मागबारे सरकार गम्भीरतापूर्वक सम्बोधन नइकरी तबसम सदन चल्न नइडेना कहलै ।
प्रतिपक्षी दलसे तत्काल ‘कोरोनाके पिसिआर चेकजा“चके दायरा बढाई पर्ना, क्वारेन्टिनमे बैठलहुकनहे कोरोना परीक्षण नइकरके घर पठैना काम रोके पर्ना, क्वारेन्टाइन तथा आइसोलेशनके उचित व्यवस्थापन तथा कोरोना रोकथाम तथा नियन्त्रणके लाग प्रभावकारी पहल करे पर्ना माग करटी प्रदेश सभा बैठक अवरोध करटी आइल बाटै ।
बैठकमे प्रदेश सरकार तथा प्रतिपक्षी दल नेपाली काँग्रेस ओ जनता समाजवादी पार्टीके प्रतिनिधि बीच संसद अवरोधबारे छलफल हुइल जनाइल बा । बैठकमे प्रदेशके मुख्यमन्त्री त्रिलोचन भट्ट, आन्तरिक मामिला तथा कानुन मन्त्री प्रकाशबहादुर शाह, प्रमुख प्रतिपक्षी नेता डा. रणबहादुर रावल, जनता समाजवादी पार्टी संसदीय दलके नेता कृष्णबहादुर चौधरी लगायतके सहभागिता रहल रहे । बुधके बैठकमे प्रतिपक्षी दलके प्रतिनिधि संसद अवरोध कैनाके कारण ओ अपन सवालबारे सरकारहे जानकारी करैले रहिट । छलफलमे सहभागी प्रमुख प्रतिपक्षी दल नेपाली काँग्रेस संसदीय दलके नेता डा. रावल सरकारसे गृहकार्य करके बिफे फेरसे छलफलके लाग बोलैना प्रतिक्रिया डेहल जानकारी डेलै । बैठकपाछे नेता रावल कहलै– सरकारसे हम्रे उठाइल सवाल ओ मागबारे गम्भीर हुइल बटाइल बा । हमार मागके सम्बोधन कैना गृहकार्य कैना कहटी सरकार फेरसे बिफेक रोज छलफलमे बोलैना कहले बा ।
प्रदेश सरकारके प्रवक्ता एवं आन्तरिक मामिला तथा कानुन मन्त्री शाह सरकार ओ प्रतिपक्षी दल बीच संसद अवरोध निकासके लाग छलफल जारी रहल बटैलै । प्रवक्ता कहलै–उहाँहुक्रे कोरोना महामारी रोकथाम तथा नियन्त्रणमे संघसे आइल रकममे आर्थिक अनियमितता हुइल कहिके अडान लेटी रहल बाटै, मने प्रदेश सरकारसे कोरोना नियन्त्रणमे हुइल खर्च यथार्थ जानकारी हुसेकल बा ।’
उहाँ बिफेक बैठक सञ्चालन करैना प्रदेश सरकार लग्टी रहल बटैलै । मन्त्री शाह ‘सदन सञ्चालन करैना दनु पक्ष सकारात्मक रहल बटैलै । उहाँ कहलै– हम्रे प्रतिपक्षी दलहे सदन सञ्चालनमे आग्रह करटी रहल बाटी । प्रतिपक्षी दलके अवरोधके कारण बजेट प्रस्तुत हुइल १८ दिन हुसेक्लेसेफे सदनमे छलफल आघे बह्रे नइसेकल हो ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू