थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत २२ अगहन २६४६, बिफे ]
[ वि.सं २२ मंसिर २०७९, बिहीबार ]
[ 08 Dec 2022, Thursday ]

निर्माण हुइल १ अँठ्वारमे तटबन्ध भासल

पहुरा | ८ श्रावण २०७७, बिहीबार
निर्माण हुइल १ अँठ्वारमे तटबन्ध भासल

पहुरा समाचारदाता
भजनी, ८ सावन ।
बाह्रसे तट्बन्ध भस्काइबर भजनी–३, कुसुमघाट गाँउ जोखिममे परल बा । जलस्रोत तथा सिचाइँ कार्यालय धनगढीसे निर्माण करल तटबन्ध सम्पन्न हुइल १ अँठ्वारमे भासल हो ।

कान्द्रा लडियामे करल तटबन्ध भसके लडिया कटान बह्रके करिब २ सय ९५ घरधुरी जोखिममे परल बाटै । कुछ दिन यहोर हुइटी रहल अबिरल बर्षाके कारण कान्द्रा लडियामे आइल बाढसे तटबन्धन जोखिममे परल हो । असार २८ गते सम्पन्न करल तटबन्ध सावन ३ गते भसल जनाइल बा । असार ५ गते जलस्रोत तथा सिंचाइ कार्यालय धनगढीसे २८ लाख बजेटमे तटबन्ध कैना सम्झौता हुइल निर्माण उपभोक्ता समिति अध्यक्ष हिरासिंह बोहरा बटैलै ।

आर्थिक बरसके अन्तिम समयमे सम्झौता हुइल ओरसे लक्ष्य अनुसार काम करे नाइ सेकल बोहरा बटैलै । ढिला सम्झौता होके १६ लाख रकम बराबरके किल काम हुइल अध्यक्ष बोहरा बटैलै । बर्षातमे काम शुरु होके पानी बह्रके ३० मिटर काम नाइ हुइलपाछे कान्द्रा लडिया कटान तिब्र पारल हो ।

लडियासे कटान तीव्र पारलपाछे लग्गेक रहल दुर्गा मावि कुसुघाट उच्च जोखिममे रहल बा । लडिया ओ विद्यालयके दुरी ५÷७ मिटर किल रहल बा । लडिया कटान रोकथाम नाइ हुइलेसे विद्यालयके भौतिक संरचना समाप्त हुइना स्थानीय नारायण ओझा बटैलै । ओझाके अनुसार १ सय ७३ घरधुरी कनैयापुर ओ १ सय २२ घरधुरी कुसुमघाटके प्रभावित हुइल बाटै । ओस्टके शसस्त्र बेस क्याम्प कुसुमघाट कटान क्षेत्रसे १० मिटरके दुरीमे रहल बा ।

शसस्त्र प्रहरी निरिक्षक मुक्ति खड्काके अनुसार स्थानीयवासी ओ शसस्त्र प्रहरीके प्रयासमे लडिया कटान नियन्त्रणके प्रयास हुइल बटैलै । भजनी नगरपालिकासे कट्टा उपलव्ध कराइलपाछे माटी भरके बैकल्पिक लडिया कटान रोकथाम करल बा ।

भजनी नगरपालिका ३ नम्वर वडा अध्यक्ष विक्रम चौधरीके अनुसार लकडाउनके कारण डेखैटी ठेकदारसे काम नाइ करलपाछे बाध्य होके वर्षातमे काम करल बटैलै । अध्यक्ष चौधरी लडिया कटान रोक्न जैविक तट्वन्ध निर्माण कैना बटैलै । भजनी नगरपालिकाके निमित्त कार्यकारी अधिकृत हरिराम चौधरी काम ढिला शुरु हुइल स्वीकार करलै । अधिकृत चौधरी लडिया रोकथाम कैना नगरपालिकासे सहयोग कैना बटैलै ।

तस्बिरमे– भजनी–३ ढुसीके स्थानीय बढुवा बंढटी

जनाअवजको टिप्पणीहरू