थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत २९ सावन २६४६, अत्वार ]
[ वि.सं २९ श्रावण २०७९, आईतवार ]
[ 14 Aug 2022, Sunday ]

भदौ ७ गते थरुहट विद्रोह दिवस मनैना तयारीमे जुटल मोर्चा

पहुरा | १३ श्रावण २०७७, मंगलवार
भदौ ७ गते थरुहट विद्रोह दिवस मनैना तयारीमे जुटल मोर्चा

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, १३ सावन ।
कोरोना कहर ओ जारी लकडाउनसे चुमचाम बिल्गाइल थरुहट थारुवान राष्ट्रिय मोर्चा फेरसे आपन संघर्षके कार्यक्रम आघे बह्रैले बा ।

भदौ ७ ओ ८ गतेहे लक्षित करके उ थरुहट मोर्चा आपन संघर्षके कार्यक्रम आघे बह्राइल हो । यहेबीच संघर्षके तयारी स्वरुप थरुहट मोर्चा, उत्पीडित समन्वय समिति ओ खसान संघर्ष समितिके संयुक्त संयुक्त बैठक मंगरके रोज कैलालीके मसुरियामे हुइल बा ।

थरुहट मोर्चाके कैलाली संयोजक माधव थारुके अध्यक्षतामे हुइल बैठकके बरका पहुना मोर्चाके केन्द्रीय संयोजक लक्ष्मण थारु रहल रहिट । बैठकमे मोर्चाके सल्लाहकार तथा पूर्व सभासद कृष्णकुमार चौधरी, मोर्चाके केन्द्रीय सदस्य फोनीराम चौधरी, रामप्रसाद चौधरी, मोर्चाके कैलाली जिल्ला सदस्य सुशीला चौधरी, उत्पीडित समन्वय समिति कैलालीके संयोजक भक्तराज विश्वकर्म, खसान संघर्ष समितिके केन्द्रीय सदस्य सुुशीला बिष्ट क्षेत्रीलगायतके सहभागिता रहल रहे ।

यहेबीच मोर्चाके संयोजक लक्ष्मण थारु जारी लकडाउनके कारण संघर्षके कार्यक्रमहे तीव्रता नैडेहे नैसेक्लेसे फेन आबभर तीब्र बनैना बटैलै । मोर्चासे पूर्व घोषित आन्दोलनके कार्यक्रमहे सशक्त बनैना बटैटी उहाँ साउन २४ गते राष्ट्रपति विद्या देवी भण्डारी, प्रधानमन्त्री केपी शर्मा ओलीसहित सक्कु प्रदेशके मुख्यमन्त्रीहुकन संयुक्त ज्ञापनपत्र बुझैना कार्यक्रम रहल बटैलै ।

थरुहट संघर्षके कार्यक्रम सुदूरपश्चिम प्रदेशमे सशक्त बनैना बटैटी भदौ ७ गते थरुहट विद्रोह दिवस व ८ गते करिया दिनके रुपमे मनैना तयारी फेन हुइटी रहल मोर्चाके संयोजक थारुके कहाइ बा ।

असार २७ गते थरुहट मोर्चा काठमाडौंमे पत्रकार सम्मेलन करके आन्दोलनके घोषणा करल रहे ।

वर्तमान संविधान पहिचान विरोधी रहल कहटी संसोधन करेक पर्ना, टीकापुर घटनाहे राजनीतिक बिद्रोहके रुपमे सम्बोधन करेक पर्ना तथा सांसद रेशम चौधरीसहित ११ जनहनहे जेल मुक्त करेक पर्ना कहटी आन्दोलनके घोषणा करल रहे ।

सम्बन्धित समाचार
थरुहट थारुवान राष्ट्रिय मोर्चासे आन्दोलनके घोषणा
हमार जनप्रतिनिधि खै ? निर्दाेष हुइट कलेसे रिहा करो

जनाअवजको टिप्पणीहरू