थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत २२ अगहन २६४६, बिफे ]
[ वि.सं २२ मंसिर २०७९, बिहीबार ]
[ 08 Dec 2022, Thursday ]

अनलाइन विधिसे परीक्षा लेना सुदूरपश्चिमाञ्चल विश्वविद्यालयके तयारी

पहुरा | २३ भाद्र २०७७, मंगलवार
अनलाइन विधिसे परीक्षा लेना सुदूरपश्चिमाञ्चल विश्वविद्यालयके तयारी

कञ्चनपुर, २२ भदौ । सुदूरपश्चिमाञ्चल विश्वविद्यायल स्नातक ओ स्नातकोत्तर तहके परीक्षा वैकल्पिक विधि (अनलाइन)से लेना तयारी करले बा । स्नातक तथा स्नातकोत्तर तहके नियमित ओरके परीक्षा वैकल्पिक विधिसे सञ्चालन कैना तयारी हुइटी रहल विश्वविद्यायलयके उपकुलपति प्रा डा अम्मराज जोशी जानकारी डेलै । जोशीके अनुसार यिहीसे आघे स्थगित हुइल परीक्षा अइना कुँवार १२ गतेसे सञ्चालन हुइना तयारी रहल बा ।

‘कोरोना कहर ओट्रा हाली जैना अवस्था नाइ डेखजाइठ्,’ उपकुलपति जोशी कहलै, ‘शैक्षिक गतिविधिहे स्वास्थ्य सर्तकता अपनाके आघे बहै्रना तयारीमे बाटी ।’ उहाँ कुँवारसे सञ्चालन कैना परीक्षाके लाग कार्यविधिसमेत पास होसेकल बटैलै । ‘यहाँके १४ आ·िक क्याम्पससित परीक्षा सञ्चालनके लाग छलफल कैके लिखित रुपमे फेन पत्राचार होसेकल बा,’ उहाँ कहलै, ‘उहे अनुसार विद्यार्थीहे फेन जानकारी हुइटी रहल बा ।’

विश्वविद्यालयसे वैकल्पिक विधि (अनलाइन) परीक्षामे सहभागी हुइना इन्टरनेट समस्या रहल विद्यार्थीके लाग ‘आइसिटी सेन्टर’के स्थापना कैना जनाइल बा । ‘परीक्षाके लाग इन्टरनेटके पहुँच बह्रैना नेपाल टेलिकमसे छलफल हुइल बा,’ उहाँ कहलै, ‘विश्वविद्यालयके हरेक गतिविधि वेवसाइटमे रख्ना काम रही ।’

ओस्टके विश्वविद्यालयसे वैकल्पिक माध्यमसे परीक्षा सञ्चालन, व्यवस्थापन तथा मूल्यांकन सम्बन्धी निर्देशिका, २०७७ जारी करल बा । ओस्टके अनलाइन परीक्षाके लाग विश्वविद्यालयसे सिकाइ व्यवस्थापन प्रणाली नामक सफ्टवेयरसमेत निर्माण करल जनाइल बा । सफ्टवेयरमार्फत परीक्षार्थीहे व्यक्तिगत इमेलमे प्रश्नपत्र पठैना बा ।

परीक्षार्थीसे टोकल समय अवधिभिट्टर उत्तरपुस्तिका स्क्यान कैके इमेलमार्फत परीक्षा नियन्त्रण कार्यालयहे पठाइ पर्ना बा । ओकर साथे सुदूरपश्चिमाञ्चल विश्वविद्यालयसे आगामी बरस एमफील ओ पीएचडीके अध्यापनसमेत सुरु कैना गृहकार्य करटी रहल बा । यहाँ पहिलचो कृषि ओर बीएसीएजी टिसरा सेमेष्टरमे विद्यार्थी अध्ययनरत रहल विश्वविद्यालय जनैले बा ।

‘इन्जिनीयरिङ ओर एमई ओ कम्प्युटर साइन्सके बीई कार्यक्रम लन्ना फेन कार्यविधि बनासेकल अवस्था बा,’ उहाँ कहलै, ‘पाछेक समय शैक्षिक गतिविधि बहै्रना मेरके टमान निर्देशिका ओ कार्यविधि बनैना काम धमाधम हुइटी रहल बा ।’

जनाअवजको टिप्पणीहरू