थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत २२ अगहन २६४६, बिफे ]
[ वि.सं २२ मंसिर २०७९, बिहीबार ]
[ 08 Dec 2022, Thursday ]

सडक मानवप्रति समर्पित कल्पना

पहुरा | २३ भाद्र २०७७, मंगलवार
सडक मानवप्रति समर्पित कल्पना

रखेडुवा पैली, बाबाक् औंठी बेचके टिरली जरिवाना

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, २० भदौ ।
बेघर, टुव्वर ओ वेसहारा बनल मनैन सहारा डेना घरके नाउ हो, दृष्टि फाउन्डेसन । जेकर सञ्चालिका हुइटी कल्पना भट्ट । जे कोरोना कहरकेबीच फेन आपन मानवता पाइला डगमगाई नैडेले हुई ।

डडेल्धुरा जिल्लाके अमरगढी नगरपालिका–६, दमडा घर रहल भट्टके नेतृत्वमे ११ जाने दृष्टि फाउन्डेसन सञ्चालनमे नानल हुइट । जनही १०/१० हजार उठाइल रकमसे २ बरससे उ फाउन्डेसन धनगढीमे सञ्चालनमे आइल हो । जौन मानवताके पाह्रा पह्रैना मजा माध्यम बन्टी गैल हो ।
पछिल्का ५ महिना याहोर दृष्टि फाउण्डेसन मेरमेराइक चुनौतीसे जुुझटी आइल बा । कोरोना कहरके बीच लौव लौव मानसिक रोगीहुकनके उद्धार संगे समाजसे असहयोग ओ तिस्कार रुपी अवरोधके फेन सामना करटी आइल हो ।

दृष्टि फाउण्डेसनके लाग धनगढी उपमहानगरपालिकाके नगर कार्यपालिका नगरपालिकाके वडा नम्बर ४ स्थित शिवपुरी सामुदायिक वनुवामे ३ कठ्ठा जग्गा उपलब्ध कराइक लाग सम्बन्धित निकायसे अनुरोध कर्ना निर्णय करल रहे ।

निर्णय पश्चात उ ठाउँमे अप्ने घर बनैना योजना दृष्टि फाउण्डेसनके रहे । मने वस्ती पागल मनैनसे भरजाई कहिके स्थानीयहुक्रे रखेडलपाछे फाउन्डेसनके अध्यक्ष भट्टहे अचम्मित बनैले बा । मने आपन लक्ष्यसे हार भर नैमन्ले हुइटी ।

‘नगर कार्यपालिकाके निर्णयपाछे ४ किल्ला प्रमाणित कराके हम्रे सुदूरपश्चिम प्रदेश सरकारहे बुझैली । प्रदेश सरकारसे भवन निर्माणके लाग १० लाख बजेट बिनियोजन हुइल । धनगढी उपमहानगरपालिकासे फेन सहयोग हुइना प्रतिवद्धता रहे । जेठ ८ गते भवनके जग शिलान्यास नगर प्रमुखसे हुइल’, उहाँ कहली, ‘मने विडम्वना स्थानीयहुक्रे पागलखाना खोले नैडेब, वडा नै पागल मनैन्से भरजाई कहिके विरोध करे लग्नै । हम्रे बनाइक पाई परल कहटी फाउण्डेसनके सक्कु डिडी बहिनियासहित २१ दिनसम ओहै त्रिपाल टाँगके बैठ्ली ।’

शिवपुरी सामुदायिक वनके अध्यक्ष बृद्धि खड्का ५ ठाउँमे जग्गा डेखाइल उहाँ बटैठी । वनके अध्यक्ष खड्कासे डेखाइल ठाउँमे वडा नम्बर ४ के वडा अध्यक्ष दिपक थापाके समर्थनमे काम करल उहाँ सुनैठी । पाछे उहाँहुकनसे सहयोग नैहोके अवरोध सिर्जना हुइल उहाँके दाबी बा ।

‘ईट्टा ओ ढुंगा गिरवाके जग बनैना काम हुइलपाछे जे जग्गा डेखाइल ओ मनैया यी जग्गा वडा नं. ५ मे परठ कहिके धोखा डेहल । आहैके उस्काहटमे तारानगर सामुदायिक वन हम्रहिन २० हजार रुप्या जरिवाना करल,’ आँस पोछ्टी भट्ट कहली, ‘जरिवाना टिराइक लाग फेन बहुट ताकेता कर्लै । मोर ठन पैसै नैरहे । बाबा बित्नसे पहिले आपन अंगरी मन्से निकारके छाई हे डैडेहो कहिके डाईहे डेले रहे । ओहे औंठी लगैले रहु । ओहे औंठी ३२ हजारमे बेचके २० हजार जरिवाना टिर्नु ।’

फाउन्डेसनके अध्यक्ष भट्टके अनुसार भवन बनाई लागल जग्गा लग्गे धनगढीके साहित्यकार बद्री भण्डारीके छावा मोहन भण्डारीके जग्गा बा । भण्डारीलगायतके मनै मानसिक सन्तुलन बिग्रल मनैनके बैठ्न घर आपन टोलमे बन्लेसे आपन जग्गाके मोल घट्न कहिके अवरोध करल उहाँके दुखेसो बा । उहाँ आघे कहठी– ‘उहाँहुक्रे पुलिस प्रशासन ओ वन कर्मचारी लगाके हम्रहिन भगैलै । हमार लाग छुट्याइल बजेट फ्रिज होगिल ।’

हाल दृष्टि फाउण्डेसनमे ४० जाने असाह्य तथा सहाराविहिन मनै रहल बाटै । जौनमध्ये ४ जाने बच्चा, ३६ जाने जन्नी मनै रहल बाटै । कोरोना महामारीके बेला फेन ६ जाने जन्नी मनै ठपल उहाा सुनैठी ।

‘मै ढारे नैसेकम कहटी कहटी फेन प्रहरी प्रशासन, मानव अधिकारकर्मीलगायतके अनुरोधपाछे ढर्ले बाटु । यहाँसमकी यी महामारीके बीच कोरोना परिक्षण फेन बिना कैले राखगिल बा । कोई फेन परिक्षण करडेहक मन नैकरठ ।’ उहाँ कहली, ‘मानसिक रोगी फेन यहे समाजके मनै हुइटै । जेहिहे यी समाज बेघर बनाइलपाछे का करही । हमार डवारमे आइलपाछे फिर्ता पठाई नैसेकजाइठ ।’

फाउन्डेसनके उदेश्य ओ अभियानवारे प्रकाश परटी उहाँ कहली–‘हमार गाउँ शहरके गल्ली गल्लीमे बेवारिसे बहुट सडक मानव बाटै । हम्रे आपन घर परिवारमे बैठल मनैनके आघे उहाँहुकनके दुःख के कौनो लेखाजोखा करे नैसेकजाई । एकठो जन्नी मनै मानसिक सन्तुलन गुमाके घरसे निक्रि कलेसे ओकर घर परिवार कोई नैरहिजाइठ । रोगी होजिठै । बेसाहरा होजिठै । यहे समाजके यौनपिपासु मनैनसे पटक–पटक बलात्कृत हुइठै । ओइनके इज्जत पलपलमे लुटगिल रहठ । उहाँहुकनके लाग ढिउर करे नैसेक्लेसे फेन कम्तिमे फेन छोटमोट छप्राक् टरे एक निन्ड शान्तिसे सुटे टे सेकही । एक कौरा भाट खाई सेकही । इज्जल लुट्नसे टे बचाहिन् कहिके यी काममे लागल बाटी ।’

फाउन्डेसन २ बरस पहिले ८ जहनहे टमान ठाउँसे उद्धार करके आपन काम सुरु करल रहे । हालसम दर्जनौं जन्नी मनै पुनजीवन पासेक्ले बाटै । जहाँ दिनप्रति अइना मानसिक सन्तुलन गुमाइल मनैनके संख्या बह्रटी गैल बा ।

मुवल मनैन्के काजक्रिया जन्नी मनैन्से

खास कैके फाउन्डेसन मानसिक सन्तुलन गुमाइल बेघर हुइल जन्नी मनैनहे सहारा डेटी आइल बा । उहाँहुकनके औषधोपचार संगे मनोपरामर्शकर्ताहुकनके सहयोगमे काउन्सिलिंग करटी आइल बा । यदि फाउन्डेसनमे रहल मनैनके ज्यान गैल कलेसे ओइनके अन्तिम संस्कार फाउन्डेसनके सञ्चालिकाहुक्रे करटी आइल बाटै । हालसम ३ जहनके अन्तिम संस्कार करसेकल भट्ट बटैठी ।

निश्चित आर्थिक स्रोत नैरहल फाउन्डेसन टमान संघ संस्था तथा मनैनसे पाइल दान ओ मुठी दानसे चल्टी आइल बा ।

अवसरके माया मारडेली

खुसी हुइक लाग कल्पनाक् लाग बहुट डगर बा । ओस्टही फेन उहाँ राजनीति शास्त्र ओ समाजशास्त्रमे स्नातकोत्तर उत्तीर्ण कर्ले बाटी । राजनीति शास्त्रमे एमफिल करटी बाटी । कौनो बेला एनजीओ, आइएनजीओमे जागिरे । मने ओइसिन अवसरहे लट्याइटी उहाँ मानसिक रोगीहुकनके सेवामे समर्पित हुइल हुइटी ।

फलतः उहाँके मानवीय कर्मके प्रतिफल स्वरुप उहाँहे गणतन्त्र दिवसके अवसरमे समाज सेवा रत्नसे सम्मान प्रदान करगिल बा । उहाँ मुलुकभरमे सबसे छोट उमेरके समाजसेवीके रुपमे समाजसेवा रत्नसे सम्मानित हुइल बाटी ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू