थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत १८ अगहन २६४३, बिफे ]
[ वि.सं १८ मंसिर २०७७, बिहीबार ]
[ 03 Dec 2020, Thursday ]

भारतके दिल्लीसे लर्का सहित दुई महिलाके उद्धार

पहुरा | ४ कार्तिक २०७७, मंगलवार
  • 11
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    11
    Shares
भारतके दिल्लीसे लर्का सहित दुई महिलाके उद्धार

पहुरा समाचारदाता
धनगढी,४ कार्तिक ।
भारतके दिल्लीसे लर्कासहित २ महिलाके उद्धार कैगिल बा ।

माइती नेपाल धनगढीके प्रमुख शिवचरण चौधरी लर्कासहित २ महिलाके उद्धार करल जनैलै । घरेलु हिंसासे पीडित वर्ष २९ के परिवर्तन नाम (रमा) के भोज हुइल ५ वर्ष पूरा हुइल रहिट ।

सामाजिक परम्परागत रुपमे भोजके गैल रहु, गोसियक घर भारतस्थित विहारमे रहल ओ भोज हुइल थेनसे घर परिवारसे गोसिया, ससुरुवा देवरुवा समेतसे बारम्बार कुटपिट चरम शारीरिक, मानसिक पीडा डेटी आइल उहाँ बटैली । उहाँ कहली, ‘मै लैहर बारम्बार फोन मार्फत जानकरी डेटी अइलेसेफे साधारण बाट हो कहिके चुप लागके परिवार बिग्री कहिके चुप लागल रहु ।’

बन्दाबन्दीके समयमे घर परिवार समेत मिलके कोठामे थुनके मरणासन्न हुइना करके कुटपिट हुइल लैहर पक्षसे माइती नेपाल काठमाडौंमे जानकारी कराइल रहे । २ नाबालक बच्चा समेत रहल महिलाके उद्धारके लाग माइती नेपालमे यिहे भदौ २९ गते हुकान डाडु बहिनियाके उद्धारके लाग इमेल मार्फत माइती नेपालहे निवेदन प्राप्त हुइल रहे ।

निवेदन प्राप्त पाछे रमाहे भारतीय संस्थाके सहयोग लेके उद्दार करके भारतस्थित एक संरक्षण गृहमे रख्न व्यवस्था करल रहे । कोभिड—१९ के कारण बन्दबन्दीसे अपन परिवार उ ठाउँमे जाके नन्ना बुझ्न समस्या हुके उ स्थानसे उद्धार करके नेपालसम नन्ना पहल कैना आग्रह करल रहल रहे । मानवीय नाता ओ एक नेपाली महिला हुइल ओरसे हिंसा सम्बन्धमे संस्थासे अपन दायित्व महशुस करके रमाहे बच्चा सहित मंगरके रोज भारतसे उद्धार करल धनगढीके प्रमुख शिवचरण बटैलै ।

ओस्टेक जिल्ला मकवानपुर घर बटुइया वर्ष ५२ के एक महिलाहेफे उद्धार करल बा । सिपाजी घर बटुइया ४ छाईनक डाई रहल उ हुकहिनहे गैल माघ महिनामे दलालके प्रलोभनमे परलपाछे घरपरिवारके सल्लाह नइमानके गोसियासे झगडा करके कुवेतमे घरायसी कामके लाग कहिके उहाँ भारतके दिल्लीमे पुगल रहिट ।

वैदेशिक रोजगारमे जैना सक्कु कागजात भारतसे बनाडेना ओ पासपोर्ट समेत भारतसे बन्न बाटमे दलालसे फकाके भारतके दिल्ली पुगाइल रहे । दिल्ली पुगलपाछे दलालसे अलपत्र पारल अवस्थामे उहाँ दिल्लीमे काम कैना एक जाने नेपाली महिला अपन कोठामे कुछ दिन आश्रय डेहलपाछे ओ उहाँहे जैसिक टैसिक असारमे गोसियक सम्पर्कमे आइल रहिट ।

गोसियक सम्पर्क आइलपाछे माइती नेपालमे उद्दारके लाग निवेदन डेहलपाछे उ महिलाहे भारतीय संस्थाके सहयोगसे उद्दार करके भारतस्थित एक संरक्षण गृहमे धरना व्यवस्था करटी मंगरके रोज नेपाल नन्ना सफल हुइल बा । उद्धार कैगिल दुनु जाने अब्बे माइती नेपाल धनगढीके संरक्षणमे रहल प्रमुख शिव चरण बटैलै ।

  • 11
    Shares

जनाअवजको टिप्पणीहरू