थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत ३० सावन २६४६, सोम्मार ]
[ वि.सं ३० श्रावण २०७९, सोमबार ]
[ 15 Aug 2022, Monday ]

कोरोना समुदायमे पुगल, सर्तक रही

पहुरा | २३ आश्विन २०७७, शुक्रबार
कोरोना समुदायमे पुगल, सर्तक रही

चीनके वुहान प्रान्तसे सुरुवाट हुइल कोरोना भाइरस (कोभिड–१९) विश्वभर टहल्का मचैटी अभिनसम ३ करोड ६४ लाख ७० हजारसे ढेर संक्रमित हुसेकल बाटै । उ मन्सेफे दश लाख ६१ हजारसे ढेरके ज्यान जासेकल बा । नेपालके हकमे कोरोना भाइरस पहिले–पहिले आउर देशसे आइल मनैनमे केल डेखा परल रहे । जे विदेशसे कमाके लौटल, काममे शिलसिला, रहरङ्गीके लाग घुमे गैल ओ पह्रे गैल रहे ओइनहे केल डेखा परल रहे । अब्बे भर नेपालमे कोरोना भाइरस समुदायस्तरमे छिरल विल्गाइठ । घरे बैठना बुह्राइल मनैनसे लेके दुध पिना लर्कनमेफे कोरोना डेखा परे लागलपाछे ओस्टही आंकलन करे सेक्जाईठ की कोरोना समुदायस्तरमे छिर सेकल बा कहिके ।

कोरोना भाइरसहे प्राय सबजाने सामान्य रुपमे लेना, वेवास्ता कैना, स्वास्थ्य मापदण्ड नइपुगैना, सरकारसेफे अपनही करल निर्णयके कार्यान्वयन कराई नइसेक्नाके कारण सक्रमणदर उच्च हुइटी बा, कलेसे जोखिमफे ओटरे बह्रटी गैल बा । नेपालमे कोरोना संक्रमणके जोखिम विल्गाइ लागलपाछे सरकार गैल चैत ११ गते रातके १२ बजेसे पहिल चो लकडाउनके घोषणा करल लकडाउन ठप्टी जैना क्रममे लकडाउनके पुर्ण पालन नइहुइल । कुवाँर ७ गते मन्त्रालयके इन्सिडेन्ट कमाण्ड सिस्टमके बैठकसे २५ हजारसे ढेर सक्रिय संक्रमित हुइलेसे फेरसे लकडाउन करे पर्ना निष्कर्ष निकारल रहे । ओटरा संक्रमित हुइलेसे अस्पतालके पूर्वाधारमे व्यवस्थापन कैना कर्रा हुइना मन्त्रालय कहले रहे ।

स्वास्थ्य तथा जनसंख्या मन्त्रालयसे एक दिन आघेक जनाइल तथ्याङ्क मन्से देशभर कोरोनाभाइरस संक्रमितके संख्या २६ हजार नाघल बा । बुधके रोजसम सक्रिय संक्रमितके संख्या २५ हजार ७ पुगल बा । ओटरे केल नाही उ रोज नेपालमे अभिनसबसे ढेर ३ हजार ४ सय ३९ जननहमे कोरोनाभाइरस संक्रमण पुष्टि हुइल रहे । नेपालमे अब्बेसम ९८ हजार ६ सय १७ सक्रमित रहल, बिफेक ठप १२ जानेक ज्यान गैलसंग मरुइयाके संख्या ५९० पुगल बाटै । अभिनसम ७१ हजार ३ सय ४३ कोरोना जिटके घर लौटल बाटै । कोरोना संक्रमण दरमे नेपाल ४२ औं स्थानमे रहल बा ।

कोरोना संक्रमण बह्रटी गैलपाछे उहीसे ज्यान गुमुइयाके संख्याफे बह्रटी गैल बा, कोरोना नाउँमे सरकारसे खर्च ढेर करल विल्गाइठ मने उपलब्धी भर कम बा । कोरोना चेकजाँकके लाग पहिले सीमित मात्रमे पीसिआर मेसिन रहे, विदेशमे आइल मनैनहे १४, २१ दिन क्वारेन्टाइनमे बैठाजाए, संक्रमण पुष्टि हुइल मनैहे आइशोलेसनमे बैठाजाए, मने अब्बे और देशसे आइल मनैफे सिधे घरे बैठाजाइटा, ओ कोरोना पोजेटिभ डेखल मनैफे अपने घरमे बैठल बाटै । स्वास्थ्य मापदण्ड नइपुगलपाछेफे संक्रमण बह्रल की जैसिन बा । टबमारे पीसिआर मेसिनके संख्या अनुसार चेकजाँचफे आघे बह्राई पर्ना विल्गाइठ, स्वास्थ्य मापदण्डके लाग आम मनै लगायत सरकारकेफे ध्यान जैना जरुरी बा । नाइटे कोरोना संक्रमण बह्रके ठेगे नइसेक्ना अवस्था आइसेकी ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू