थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत ०१ भादौ २६४६, बुध ]
[ वि.सं १ भाद्र २०७९, बुधबार ]
[ 17 Aug 2022, Wednesday ]

बसन्तामे हुलाकीके अभिन टुंगो नाइलागल

पहुरा | २३ आश्विन २०७७, शुक्रबार
बसन्तामे हुलाकीके अभिन टुंगो नाइलागल

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, २३ कुँवार ।
बसन्ता वन क्षेत्र भिट्टरके दुई किलोमिटर हुलाकी सडक कहिया बनी कना आभिनसम टुंगो नाइ लागल हो ।

कैलालीमे पर्ना धनगढीसे सत्तीसमके ६२ किलोमिटर सडकमध्ये ४४ किलोमिटर पाँच बरस पहिले निर्माण हुइलेसे फेन उ क्षेत्रमे आभिनसम निर्माण नाइ हइल हो । कटैनीसे कान्द्रा लडियासमके १८ किलोमिटर सडकमध्ये १६ किलोमिटर नेपाल सरकारके लावा मापदण्ड अनुसार दुई लेन (सात मिटर पिच) सहितके लगभग निर्माण सम्पन्न हुइना अवस्थामे पुगल इन्जिनियर मडै बटैलै । मने बसन्ता वन क्षेत्र भिट्टरके दुई किलोमिटर लम्बाइके सडक कहिया बनी कना आभिन टुंगो लागल नाइहो ।

बसन्ता वन क्षेत्रमे निमार्ण हुइना बाँकी हुलाकी सडक

डिभिजन वन कार्यालय कैलालीसे सडकमे पर्ना एक सय रुख्वा काटक लाग आदेश मागल फाइल आघे नाइ बर्हके उ स्थानमे हुलाकी सडकके ट्र्याकसमेत खोलल् नाइहो । इन्जिनियर मडै ईआर्ईए ओ आइईई कैके रुख्वामे टाँचासमेत लगा सेकल रलेसे फेन कटान आदेश नाइ पाइल ओरसे काम करे नाइ सेकल बटैलै ।

मने, डिभिजन वन कार्यालय कैलाली वन कार्यालयसे राखल सर्त पूरा नाइ करल ओरसे फाइल आघे बर्हाइ नाइ सेकल बटैलै । डिभिजन वन कार्यालय कैलालीके रामचन्द्र कँडेल बसन्ता वन अन्तर्राष्ट्रिय जैविक करिडोर रहल ओरसे उ क्षेत्रमे वन्यजन्तुके अण्डर पास ओ ओभरपास अनिवार्य रूपमे बनाइ पर्र्ना सर्त राखल ओ उ बनैना आयोजना कार्यालयसे तत्परता नाइ डेखाइल बटैलै ।
‘पहिले हम्रे हुलाकी सडकके अलाइनमेन्ट नै चेन्ज करे कहल रही,’ उहाँ कहलै, ‘सडकके अलाइनमेन्ट चेन्ज करे नाइ सेकलपाछे हम्रे पाछे अण्डर पास ओ ओभर पास बनाइ कहल रही । उ बनाइ फेन उहाँहुक्रे काम नाइ करले हुइट ।’

धनगढी उपमहानगरपालिका वडा नम्बर १ मे परना धनगढी–भन्सार हुलाकी सडकखण्ड

विकासके काम रोक्न नाइ रोके पर्ना ओ बन्वा फेन अतिक्रमणसे बचैना हुइल ओरसे आयोजना कार्यालयहे बन्वाके दक्षिणी क्षेत्रमे तारबार कराके फाइल आघे बह्रैना सहमति हुइल वन अधिकृत कँडेल बटैलै । उहाँ तारबार करल अनुगमन करलपाछे किल हुलाकी सडक बनैना डगरा खुल्ना बटैलै ।

हुलाकी सडक चाकर बनैना

यिहे बिच कैलाली जिल्लामे पर्ना ८३.७ किलोमिटर हुलाकी सडक चाकर (चौडा) बनैना काम डश्यापाछे हुइना हुइल बा ।

उ सडकके ठेक्का होसेकलपाछे अब्बे हुलाकी सडक आयोजना कार्यालय धनगढी ओ निर्माण कम्पनी ज्वाइन्ट सर्भे करटी रहल बाटै । आयोजना ओ निर्माण कम्पनीसंगके यो सर्भे ओराके निर्माणकार्य आघे बर्हैना तयारी रहल आयोजनाके इन्जिनियर पदम मडै बटैलै ।

धनगढी–भजनी–सत्तिसमके ४४ किलो मिटर ओ लम्की–टीकापुर–खक्रौलासमके ३९.७ किलोमिटर सडक चौडा बनाइक लाग सात खण्डमे ठेक्का लगाइल बा ।

धनगढी–भजनी–सत्तिसमके चार खण्डमध्ये तीन खण्ड स्वछन्द जोशी ओ चौथो खण्ड कालिका जोशी जेभीसे निर्माणके जिम्मेवारी पैले बाटै । लम्की–टीकापुर–खक्रौलासमके ३ खण्डमध्ये कालिका सुमार्गील एक खण्ड ओ खड्का कृष्ण जेभी दुई खण्ड निर्माण कैना सम्झौता हुइल इन्जिनियर मडै बटैलै ।

साढे दुई अर्बके लागत अनुमान करल हुलाकी सडक स्तरोन्नति करेबर धनगढीके क्याम्पसरोडसे मनहेरासम तीन किलोमिटर चार लेन ओ बाँकी ८०.७ किलोमिटर दुई लेनके बनाजैना बा । अब्बे हुलाकी सडकमे एक लेन (साढे तीन मिटर) किल कालोपत्रे करल बा ।

पहिले क्याम्पसरोडसे कनरीसमके ७ किलोमिटरके लागत ३७ करोड, दुसरा खण्ड कनरीसे फुलबारीसमके १२ किलोमिटरके लागत ३२ करोड, तिसरा खण्ड फूलबारीसे कटौनीसमके ७ किलोमिटरके लागत २८ करोड ओ चौथो खण्ड कान्द्रासे सत्तीसमके १३ किलोमिटरके लागत ३२ करोड ७२ लाख रहल इन्जिनियर मडै बटैलै ।

इन्जिनियर मडैके अनुसार हुलाकी सडकके चौडाइ अलकत्रा प्रविधिसे बनाजैना बा । अब्बेक हुलाकी सडक ओटासिल प्रविधिसे निर्माण हुइल बा । जौन निर्माण सम्पन्न नाइ हुइटी भत्कल बा । इन्जिनियर मडै पुरान सडकहे फेन अलकत्रा प्रविधिमार्फत नै स्तरोन्नति करजैना बटैलै । उहाँ एक साइटके सडक निर्माण नाइ हुइटसम औरे साइटमे मर्मत किल करजैना बटैलै । उहाँ एक साइटके निर्माण ओरैलेसे किल औरे साइड निर्माण करजैना बटैलै । सडक चौडा करक लाग गैल अगहनमे बोलपत्र आह्वान करलेसे फेन सम्झौता यिहे असार ३० गते साउन १ गतेसे काम कैना मेरके हुइल रहे । निर्माण कम्पनी २०७७ साउन १ गतेसे ३० महिनामे उ काम सम्पन्न कैना मेरके सम्झौता हुइल इन्जिनियर मडै बटैलै ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू