थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत ०३ माघ २६४३, शनिच्चर ]
[ वि.सं ३ माघ २०७७, शनिबार ]
[ 16 Jan 2021, Saturday ]

‘ धनगढी–अत्तरिया ६ लेन सडक ’

म्याद थपके लाग दौडधुप

पहुरा | २८ पुष २०७७, मंगलवार
  • 19
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    19
    Shares
म्याद थपके लाग दौडधुप

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, २८ पुस ।
दुई बरसमे निर्माण सम्पन्न हुइ पर्ना धनगढी–अत्तरिया ६ लेन सडक अधुरे रहल बा ।

दुई बरसमे बनसेके पर्र्ना सडक साढे तीन बरस बित्लेसे फेन अधुरे रहल बा । एक अर्ब ६५ करोडके लागतमे निर्माण हुइटी रहल सडक निर्माण कम्पनीसे भर एक अर्ब २३ करोड भुक्तानी लेसेकल जनाइल बा ।

प्रधानमन्त्री केपी ओलीसे २४ पुसमे धनगढीमे आयोजित आमसभाहे सम्बोधन करटी देशभर विकास निर्माणके काम तीव्र रूपमे आघे बह्रटी रहल बटैटी धनगढी–अत्तरिया ६ लेन सडकके उदाहरण डेहल रहिट । प्रधानमन्त्री ओली विकासके उदाहरणके रूपमे प्रस्तुत करल इ सडकके भर बिजोग रहल बा ।

कैलालीके धनगढी–अत्तरिया ६ लेन सडक निर्माणके कामसे थपल म्यादमे फेन पूर्णता पाइ सेकल नाइहो । निर्माण सम्पन्न करे पर्र्ना समयावधिमे टे काम पूरा नाइ हुइल थपल डेढ बरसमे फेन गति लेहे सेकल नाइहो । साढे तीन बरसमे ८० प्रतिशत किल काम हुइल बा ।

इ सडकके पहिल खण्डमे थप करल डेढ बरसके अवधि ६ अगहनमे ओराइल बा । डुसरा ओ टीसरा खण्डमे फेन २० महिना थपल समयावधि १५ माघमे ओरैटी रहल बा । मने, अब्बेसम समग्र भौतिक प्रगति ८० प्रतिशत किल हुइल आयोजना कार्यालय जनैले बा । डुसरा ओ टीसरा खण्डके काम फेन थप करल अवधिमे सम्पन्न हुइ नाइ आयोजनाके इन्जिनियर लक्ष्मण रावल बटैलै ।

अब्बे पहिल ओ डुसरा खण्डमे ८५ प्रतिशत तथा टीसरा खण्डमे ७५ प्रतिशत काम सम्पन्न हुइल आयोजना जनैले बा । ‘हालसमके प्रगति हेरेबर ६ लेनके काम पूर्ण हुइना आभिन कुछ महिना लग्ना डेखजाइठ्,’ इन्जिनियर रावल कहलै, ‘काम अधुरे रहल ओरसे म्याद थपके प्रक्रिया आघे बह्रल बा ।’

धनगढी–अत्तरिया १४.२ किलोमिटर सडकअन्तर्गत पहिल खण्ड मोहना पुलसे बोराडाँडीसम साढे चार किलोमिटर, डुसरा खण्ड बोराडाँडी–गेटा साढे चार किलोमिटर ओ टीसरा खण्ड गेटा–अत्तरिया छुट्टाछुट्टे ठेक्कामार्फत काम हुइटी रहल बा । आभिन सडक कालोपत्रेके काम नै ओराइल हो । फुटपाथ ओ सर्भिस लेन निर्माण भर भर्खर सुरु हुइल बा ।

सडक किनारमे रेलिङ राख्न काम फेन अधुरै बा । नालीसहित दुई मिटर चौडा फुटपाथ ओ न्यूनतम साढे तीन मिटर चौडाइके सर्भिस लेन निर्माण कैना सम्झौता रहल बा । तीनु खण्डमे पहिल चरणके कालोपत्रेके काम सम्पन्न हुइलेसे फेन डुसरा चरणके कालोपत्रेके काम आधा किल ओराइल इन्जिनियर रावल बटैले बाटै ।

दुई चरणमे कैके १० सेन्टिमिटर मोटाइके कालोपत्रे सडक बन्टी बा । ६ सेन्टिमिटर मोटाइके कालोपत्रेके काम सम्पन्न होके अब्बे डुसरा चरणमे चार सेन्टिमिटर मोटाइके कालोपत्रे थप्ना काम हुइटी रहल बा । फुटपाथ ओ सर्भिस लेन निर्माणके काम फेन सुस्त बा । तीनु खण्डके काम दुई बरसभित्रे ओरवाइना सम्झौता रहे । मने, डेढ बरस थपल अवधि ओराके फेन निर्माणके गति सुस्त रहल बा । पूर्व–पश्चिम राजमार्गके अत्तरियासे भारतीय नाका गौरीफन्टा जोर्ना हुइल ओरसे इ सडक यहाँके महत्वपूर्ण आयोजना हो ।

दुई बरसमे ओराइपर्र्ना काम साढे तीन बरससम पूरा नाइ हुइलपाछे निर्माण कम्पनी पुनः म्याद थपके लाग दौडधुपमे लागल बा । तीनु खण्डमे काम करटी रहल निर्माण कम्पनीसे म्याद थपके लाग आयोजना कार्यालयमे निवेदन डेले बावै । गत अगहनमे म्याद ओरैनासे आघे नै निवेदन डेलेसे फेन पहिल खण्डमे थप नैहुइल हो ।

कोरोना भाइरसके महामारीके कारण कुछ समय काम करे नाइ सेकल कहटी म्याद थपे पर्ना माग निर्माण कम्पनीसे करल हुइट । तीनु खण्डमे असारसम म्याद थप्न भौतिक पूर्वाधार विकास मन्त्रालयहे सिफारिस करल आयोजना कार्यालय जनैले बा । ‘कोरोनाके कारण काम प्रभावित हुइल रहे । उहे आधारमे असारसम म्याद थप्न सिफारिस करबी,’ इन्जिनियर रावल कहलै, ‘कत्रा थप्ना कना भर केन्द्रसे निर्णय करी ।’

म्याद ओरैलेसे फेन पहिल खण्डमे ठेक्का पाइल शर्मा–अमर–नागार्जुन जेभी काम जारी रख्ले बा । ओस्टके डुसरा खण्डमे लुम्बिनी–राजेन्द्र–डाँफे तथा टीसरा खण्डके लामा–राजेन्द्र–डाँफे काम करटी रहल बावै । एक अरब ६५ करोडके लागतमे आयोजना निर्माण हुइटी रहल बा । निर्माण कम्पनी कुल लागतके करिब ७५ प्रतिशत अर्थात् एक अर्ब २३ करोड भुक्तानी लैजासेकल बाटै ।

  • 19
    Shares

जनाअवजको टिप्पणीहरू