थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत ०३ माघ २६४३, शनिच्चर ]
[ वि.सं ३ माघ २०७७, शनिबार ]
[ 16 Jan 2021, Saturday ]

माघेम सार्वजनिक बिदामे काजे कन्जुस्याइ ?

पहुरा | २८ पुष २०७७, मंगलवार
  • 64
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    64
    Shares
माघेम सार्वजनिक बिदामे काजे कन्जुस्याइ ?

अँट्वारके बैठल मन्त्रिपरिषद् बैठकसे माघके अवसरमे माघ १ गते सार्वजनिक बिदा डेना निर्नय कइगैल बा ।

उहे डिन माघे संक्रान्ति पर्ना हुइल ओरसे सरकार हरेक बरस माघ १ गते सार्वजनिक विदा डेठ् । मने, उहे डिन थारु समुदायके लावा बरस ओ बर्का टिह्वार माघ फेन मनैना हुइल ओरसे माघेम कम्तीमे ३ दिन सार्वजनिक विदाके माग प्रत्येक बरस थारु समुदायसे उठ्टि आइल बा । असौं फेन उठल बा, मने सुनुवाइ नै हुइ सेक्ठो ।

पुसके अन्टिम रोज सुवर मर्ना डिन, माघ १ गते लहान, २ गते खिच्रह्वा असिक कैके थारु समुदायसे कम्तीमे ३ डिन सार्वजनिक विदाके माग स्वाभाविक फेन बा । डोसर थारु गाउँक रिटिथिटि बँढ्ना बरघर, भलमन्सा, गुरुवा चयन कर्ना, गाउँक ख्यालमे बरस भरिक समिक्छा कर्ना लगायत ढेर महत्वपूर्ण बाट माघेम जोड गैल ओर्से फेन माघेम लम्मा विदाके माग जायज बा । थारु कल्याणकारिणी सभासहित थारु अन्य संघ संस्थासे थारुनके मुख्य टिह्वारमे सरकारसे सार्वजनिक विदा डेहे पर्ना माग लम्मा समयसे करटी आइल बाटै, मने सरकार कानेम तेल डर्ले बा ।

सुदूरपश्चिम प्रदेश सरकारसे थारु समुदायके मुख्य टिह्वार माघ ओ अट्वारीमे एक एक डिन सार्वजनिक विदा डेना कहल बा । जबकि इहिसे आघे थारु समुदाय सुदूरपश्चिम प्रदेशमे अटवारीमे सार्वजनिक बिदा नाइ पैले रहिट । ओहोर कर्णाली प्रदेशसे फे अल्पसंख्यक रुपमे रहल सुर्खेतके थारु कर्मचारी टे झन कबु विदा नैपैठाँ ।

थारुनके बरा टिह्वारमे फेन राज्य गम्भिर नैहुइल ओर्से थारु कर्मचारीनहे बिदा नै डे जाइठो । उहे ओरसे ओइनके सबहस मौलिक टिह्वार फेन फिक्कल हुइटि बटिन ।

थारुन् हेर्ना राज्यके गलत प्रवृत्तिके कारन हमार टरटिह्वारमे फेन असर पर्टि बा । जस्टे कि टीकापुर घटना हुइल बरस २०७२ सालमे प्रशासनसे गैरथारुन्के गौरा टिह्वारमे कर्फयू हटा गैल रहे, मने अटवारीम कर्फयू जारी रहल । कुछ बरस पहिले डस्या मनाइक लग सुर्खेतके थारु गाउँमे बैठाइल डारु प्रहरीप्रशासनसे जवर्जस्ति तोडफोड कैगैल रहे । आखिर कबसम थारु सरकारके आँखिक किर्किट बन्हि ?

अब्बे संघीय सरकार, प्रदेश सरकार माघेम अक्के डिन विदा डेके झारा टर्टि बटाँ । कम्तिमे स्थानीय सरकार थारुन्के जायज माग सुन्ना चाहि । थरुहट क्षेत्रके स्थानीय सरकार माघेम ३ डिन विदा डेना निर्नय करिट ।

खुशीक बाट लुम्बिनी प्रदेश अप्कि माघेम २ डिन विदा डेहटा । कैलारी गाउँपालिका माघेम ३ डिन विदा डेके उदाहरनिय काम कर्ले बा । इ निरन्तरता पाए । आउर स्थानीय निकाय फेन कैलारी गाउँपालिकासे सिख्खा लिंट ।

  • 64
    Shares

जनाअवजको टिप्पणीहरू