थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत ०८ कुँवार २६४५, शुक्कर ]
[ वि.सं ८ आश्विन २०७८, शुक्रबार ]
[ 24 Sep 2021, Friday ]

पटेला थारु संग्राहलय संचालनमे ढिलाई

पहुरा | १९ फाल्गुन २०७७, बुधबार
पटेला थारु संग्राहलय संचालनमे ढिलाई

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, १९ फागुन ।
कैलालीके धनगढी उपमहानगरपालिका वडा नम्बर ७ पटेलामे बनल थारु सांस्कृतिक संग्राहलय संचालनमे ढिलाई हुइल बा । निर्माण कम्पनीसे निर्माण सम्पन्न कैके धनगढी उपमहानगपालिकाहे १७ महिना आघे हस्तान्तरण कैसेकल मने संचालनमे ढिलाई हुइटी रहल हो ।

धनगढी उपमहानगरपालिका वडा नम्बर ७ के वडा सदस्य तथा कार्यपालिका सदस्य अर्जुन चौधरी यिहे आर्थिक वर्षभिटर पटेला थारु सांस्कृतिक संग्राहलय संचालन कैना बटैलै । निर्माण कम्पनी पोहोर साल कार्तिक महिनामे भवन निर्माण सम्पन्न कैके नगरपालिकाहे बुझासेकल रहे ।

‘संचालन कैना कहिके टिसरा पटक बैठक हुसेकल बा,’ उहाँ कहलै– ‘गैल बरसके माघक जखेरी यिहे हुइना कहिके कहल रहे, उ टरलपाछे बैशाख १ गतेक तयारीमे लग्ली, चैत ७ गते वडाध्यक्षके अध्यक्षतामे बैठक बैठके निःशुल्कमे डेहे सेक्ना सामान जुराके बैशाख १ गते उद्घाटन कैना कहल रहे ठिक्के ११ गते कोरोनाके कारण बन्दाबन्दी सुरु हुके दुसरा चो टोकल मितिफे टरगिल ।’

बैशाखमे जैसिकफे संचालन कैना कहिके गाउँ बुद्धिजीवी समाजसेवी अन्तराम चौधरी ८४ ठो लिस्ट नन्के ढेर सामान निःशुल्क सहयोग कैना कहटी जुटल रहिट, बन्दाबन्दी सुरु हुइलपाछे सबजे घरेम करयागिली बैशाख १ गते टरल, अब्बे काम व्यस्तताके कारण ढिलाई हुइटी रहल उहाँ बटैलै ।

पटेला थारु संग्राहलय सहरी विकास तथा भवन निर्माण विभाग संघीय सरकारके बजेटसे बनल हो, जेकर लागत बजेट १ करोड ८४ लाख १७ हजार ४ सय ९४ रुप्या रहल धनगढी उपमहानगरपालिकाके इन्जिनियर दिजराज भट्ट बटैलै । थारु सांस्कृतिक संग्राहलय संचालन करेक लाग धनगढी उपमहानगरपालिकासे स्थानीय वडामे एक ठो समिति गठन करले बा । उ समिति संग्राहलय संचालन करेक लाग टमान चो छलफल आघे बढाइल उहाँ जनैलै ।

नगरपालिकासे पटेला थारु संग्राहलयके सामान व्यवस्थित कैना कहटी १२ लाख रुप्या बजेटफे विनियोजन करल इन्जिनियर जनैलै । उ बजेटसे सामान खरिद करे सेक्ना ओ र्‍याग बनाइक लाग विनियोजना करल उहाँ बटैलै ।

संग्राहलय संचालन कैना चुनौती

सुदूरपश्चिम प्रदेशमे पर्यटनके क्षेत्रके प्रसारके कमी बा, विदेशी पर्यटकफे कम आइल ओरसे टिकटसे चले सेक्ना अवस्था नइहो वडा सदस्य अर्जुन चौधरी कहलै, ‘सरकारी निकायसे कर्मचारी भर्ना कैके चलैलेसे हो नइटे नइचल्नाहस डेख्ठु,’ उहाँ कहलै– ‘नगरपालिकासे कर्मचारी भर्ना कैके पठाइ कलेसे चल्नाहस विल्गाइठ, नइटे टिकट बेच्के चल्ना कर्रा हस बा ।’ चौकीदार, सरसफाई करुइया सहयोगीके लाग नगर प्रमुखसे बाटचित हुईबेर पठैना बचन हुइल, मने अभिनसम नइपठाइल हो उहाँ कहलै ।

भुक्तानी प्रक्रियामे कठिनाई हुके सामान खरिद करे नइसेकल वडा सदस्य अर्जुन कहलै । सरकारी काममे भुक्तानी लेहे विल अनिवार्य चाहठ, थारु संग्राहलयके लाग चाहल सामान गाउँघरमे पैना हो मने गाउँघरमे मिल्ना उ सामग्रीके विल नइमिल्ना हुके सामान कैना समस्या हुइल बा । गाउँघरमे मिल्ना सामानटे निःशुल्कफे डेहे सेक्जाई किन्ही पर्ना सामान खरिद करेबेर विलके समस्या हुइना उहाँ कहलै । उपभोक्ता समिति सभावित रकमसहितके लिस्ट पठैलेसे वडा कार्यालय कौनो फर्मसे सामान खरिद कैके विल नन्ना उहाँ कहलै ।

धनगढी उपमहानगरपालिका वडा नम्बर ७ स्थित पटेलामे बनल थारु सांस्कृतिक संग्राहलय ।

पटेला थारु संग्राहलयके सामान खरिदके लाग वडा कार्यालयसे २ लाख ५० हजार ओ क्षेत्रीय सहरी विकास तथा भवन निर्माण विभागसे समान सजावट कैना र्‍याग, बक्सा, सिसा लगायतके लाग १० लाख बजेट विनियोजना करल नगरकार्यपालिका सदस्य चौधरी कहलै । मने नगरपालिकाके इन्जियरसे पुगेछेर योजना परल मने बजेट नइपुगल बटाइल उहाँ बटैलै । ‘रकम अइटीकी काम सुरु कैजाई,’ उहाँ कहलै, ‘वडाके बजेटसे सामान केल खरिद करे सेक्जाई, संग्रहालयके लाग सामान खरिदके लाग गैल अगहन महिनामे खरिद समितिफे बनागिल बा ।’

खरिद समितिसे सामानके लिस्त वडाहे बुझैटीकी वडा समिति ओ खरिद समिति विच छलफल हुई खरिद कैना प्रक्रिया सहजुल हेरके उहे अन्सार जैना उहाँ कहलै ।

पटेला थारु सांस्कृतिक संग्राहलय उपभोक्ता समितिसे माघ महिनामे बैठके बैठकके कुछ सामानके तालिकाफे बनैले बा ।’ समितिके अध्यक्ष पार्वती चौधरी अपनेहुक्रे थारु संग्राहलयके तालिका बनाइल बटैली । समितिके डेल्वा, सोनकरै, बर्छी, चोलिया, गोनिया, रंगीन ढकिया, पनछोपनी, छटरी, कोल्ह, हर, जुवा, किल्वाही, हेगा, लह्रिया, घचिया गोन्द्री, पेटारी गोन्द्री, डोकनी, ढेकी, हेल्का, डेल्या, टापी, जाल, ढडिया, खोन्घया, बन्ठी, सुप्पा, छिटवा, माटिक भाँडा, हुक्का, मन्डरा, ढोल, चौरी (लहरा), मन्जिरा, खटिया, पगिया, जामाचौबन्दी, टोपी, पौवा, चकिया, भित्रेचित्र, सुटिया माला, झिलझिलिया, टरिया, लखक चुरिया, कारा, कन्सेहरी, झोफहा विरा, फरिया, गुरिया, बराहा, कुठली, जबरा, डेहरीके तालिका बनाइल बटैली ।

संग्राहलयमे थारुनके कुल डेउटनके थर अन्सारके अल्गे–अल्गे लाइनसे डेउटा ढरना, अँग्नामे भर घर बाहेर रहना ओ अब्बे हेरैटी गैल पुरान चिज कठुवक लढिया, कोल्ह, ढेकी, चकिया लगायत समान ढरना समितिके अध्यक्ष पार्वती बटैली ।

पटेला थारु संग्रहालय सामान खरिद समितिके कोषाध्यक्ष चन्दा चौधरीे गैल माघ ४ गते समिति, गाउँक भल्मन्सा मिल्के सामानके लिस्ट बनाइल बटैली । २ लाख ५० हजारमे गरगहना खरिद कैना टे सम्भव नइहो, छोट–छोट सामान खरिद कैना कहिके लिस्ट टे बनाइल बा, बहुट जैसिन सामान खोजे पर्ना उहाँ कहली । संग्राहलय संचालय हुइलपाछे ढेर अवसर पैना ओ कोनुवामे रहल पटेला गाउँहे चिन्हाई सेक्ना कोषाध्यक्ष चन्द्रा बटैली ।

पटेलाके स्थानीयबासी शखिया नाँच माघके मघौटा, झुमरा, सखिया नाँच निरन्तर करटी आइल बटै ।

पटेला थारु संग्राहलय पटेला सामुदायिक वन क्षेत्रमे सार्वजनिक जग्गा करिब ६ कठ्ठामे रहल बा ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू