थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत ११ कार्तिक २६४५, बिफे ]
[ वि.सं ११ कार्तिक २०७८, बिहीबार ]
[ 28 Oct 2021, Thursday ]
.

प्राविधिक शिक्षा ओ सीप विकासके लाग मुक्तकमलरीके तथ्याङक मुख्यमन्त्रीहे बुझागिल

पहुरा | ७ आश्विन २०७८, बिहीबार
प्राविधिक शिक्षा ओ सीप विकासके लाग मुक्तकमलरीके तथ्याङक मुख्यमन्त्रीहे बुझागिल

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, ७ कुवाँर ।
मुक्तकमलरी विकास मञ्चसे प्राविधिक शिक्षा ओ सीप विकासके लाग सुदूरपश्चिम प्रदेशके मुख्यमन्त्री त्रिलोचन भट्टहे ज्ञापनपत्र बुझाइल बा । मञ्चके कैलाली, कञ्चनपुर जिल्लासे प्राविधिक शिक्षा ओ सीप विकासके लाग आ अपन तथ्याङक संकलन करके विफेक रोज मुख्यमन्त्रीहे मुक्तकमलरीके विवरण बुझाइल बा । मञ्चके कैलाली जिल्ला अध्यक्ष विन्द्रा चौधरी प्राविधिक शिक्षा ओ सीप विकास तालिमके १४ सय ७४ जाने मुक्तकमलरीहुकनके नामवाली संकलन करके मुख्यमन्त्री भट्टहे बुझैले रहिट ।

कैलाली जिल्लामे कैलालीमे मुक्तकमलरीके संख्या ४ हजार ७४ रहलमे सरकारी परिचयपत्र पाइल संख्या २५ सय रहल अध्यक्ष बटैली । एक हप्ता आघे मुक्तकमलरीहुकनके समस्या ओ विगतमे सरकारसंग हुइल सहमतिबारे जानकारी डेना मुख्यमन्त्री भट्ट ओ प्रदेशके भुमि व्यवस्था तथा कृषि सहकारी मन्त्री विनिता चौधरीहे ज्ञापनफे बुझैले रहिट । उहे क्रममे एक हप्ताभिटर मुक्तकमलरी विकास मञ्च कैलाली, कञ्चनपुरसंग प्राविधिक शिक्षा ओ सीप विकास तालिमके लाग मुक्तकमलरीके विवरण माग करल रहे ।

मञ्चके कैलाली जिल्ला अध्यक्ष विन्द्रा कहली, तथ्याङक संकलन करके बुझैना हम्रहिनहे एक हप्ताके समय डेहल रहे, समय कम हुइल ओरसे और मुक्तकमलरीहुकनके नाम छुटल बा बा । हम्रे हाली संकलन करके बुझैबी ।

ओस्टेक करके मञ्चके कञ्चनपुर जिल्ला अध्यक्ष सिता चौधरी प्राविधिक शिक्षा ओ सीप विकास तालिमके लाग ३ सय ७२ जानेक नामावली बुझैले बटी । उहाँ फे जिल्लामे और मुक्तकमलरीके नामावली छुट रहल ओ बाँकीके नामावली ओ विवरण हाली बुझैना बटैली । उहे अवसरमे कैलाली कञ्चनपुरमे मञ्चके अपने भवन नइहुके आयस्रोत नइहुके समस्या हुइल बटैटी मुख्यमन्त्रीसंग ओकर लागफे व्यवस्था करडेना माग करल रहे ।

मञ्चके केन्द्रीय सदस्य शान्ति चौधरी सरकारसे मुक्तकमलरीहे मुक्ती घोषणा करेबेर १० बुँदे सम्झौता करल मने ओकर कार्यान्वयन नइकरल बटैली । उहाँ कहली सरकार ओ मुक्तकमलरी विच हुइल सहमति मन्से तीन ठो बुदाँ केल कार्यान्वयन हुइल बा । मुक्तकमलरीके समस्या समाधान कैना सरकारके उदाशिनता कहे डेखल बा उहाँ कहली ।

मुक्तकमैया, मुक्तहलियाके तथ्याङक संकलन करके ओइनके व्यवस्था करल मने मुक्तकमलरीहे राज्य दुसरा देशके नागरिक सरह व्यवहार करल बटैली । मुक्तकमलरीके सही तथ्याङक संचालन विना परिचयपत्र वितरण करेबेर ढेर मुक्तकमलरी सरकारी परिचयपत्रसे बन्चित हुई परल उहाँ बटैली ।

ज्ञापनपत्र बुझटी मुख्यमन्त्री भट्ट मुक्त कमलरीके समस्या समाधन करे सेक्ना, अपने सेक्ना सहयोग कैना बटैलै । मुख्यमन्त्री कहलै प्रदेशसे हुइना समस्या समाधन प्रदेश सरकारसे कैना प्रयास करबी, केन्द्रसे हुइना समस्या समाधान केन्द्रहे सिफारिस करके दवाद डेबी ।

मुक्तकमलरी विकास मञ्चके लाग भवन निर्माणके व्यवस्था करे सेक्ना मने जग्गा अपनही खोजे पर्ना उहाँ कहलै । मुक्तकमलरीहुक्रे संचालन करल सहकारीहे सहयोग कैना बटैटी सहकारीके विवरणफे उहाँ माग करले बटै ।

कार्यक्रमके सञ्चालन मञ्च कैलालीके उपाध्यक्ष सुनिता चाैधरी करले रहि ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू