थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत १३ कुँवार २६४६, बिफे ]
[ वि.सं १३ आश्विन २०७९, बिहीबार ]
[ 29 Sep 2022, Thursday ]

हरेरी महोत्सव सम्पन्न

पहुरा | ३१ श्रावण २०७९, मंगलवार
हरेरी महोत्सव सम्पन्न

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, ३१ सावन ।
धनगढी उपमहानगरपालिका–५, जाईस्थित देउथानमे आयोजना हुइल हरेरी महोत्सव २०७९ सम्पन्न हुइल बा ।

‘भाषा, संस्कृति, कला, भेष हमार पहिचान, हरेरी महोत्सव मनैना सक्कु किसानक अभियान’ कना मुल नाराके साथ इहे सावन २८ से ३१ गतेसम आयोजना हुइल हरेरी महोत्सव सोम्मारके समापन हुइल हो ।

हरेरी मुल आयोजक समितिके अध्यक्ष कुलबीर चौधरीके अध्यक्षतामे समापन हुइल कार्यक्रमके बर्का पहुना धनगढी उपमहानगरपालिका वडा नम्बर ५ के वडा अध्यक्ष गजेन्द्र शाही रहल रहिट । लोक कला भाषा संस्कृति जोगैना हरेरी महोत्सवसे महत्वपूर्ण भूमिका खेल्ना वडा अध्यक्ष शाही बटाइल रहिट । ओकर साथे उहाँ इ मेरके कार्यक्रमके लाग वडासे सेक्नासम सहयोग कैना बटाइल रहिट ।

थारु समुदायमे करजिना चार मुख्य सामुहिक पूजा मध्ये हरेरी पूजा फेन एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक पुजा हो । हरियर खेती, हरियर वन, हरियर मैदान बनैना उदेश्यसे हरेरी पूजा मनैना प्रचलन थारु समुदायमे आदिमकालसे पुजा करटी आइल बाटै । हरेरी पूज मनैलेसे लगाइल बालीनालीमे लग्न डहिया, महिया, किराकाटी, गाँधी, फटिंगालगायत रोगव्याधी नैलग्ना तथा बालीनाली मजा हुइना मान्यता थारु समुदायमे रहल रहल बा ।

महोत्सव अवधिभर थारु समुदायके लोपोन्मुुख मुुंग्रहुवा नाच, लठ्ठहुवा नाच, लाठी, कठघोरी, सखिया, झुम्रा, हुरडुङवा नाँच, एकल नाँच, बर्कीमार प्रस्तुत करगिल रहे । ओस्टके मगरसमुदायके भुमे, मारुनी नाँच, रानाथारु ओ कठरिया थारु समुदायके होरी, पोमा, एकल डाँन्स, बेक्रिङ डान्स, गु्रपिङ डान्स, सजना, डोहरी गीत, टमान सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करगिल रहे । साथे थारु राष्ट्रिय तथा स्थानीय गायक, साहित्यकारहुकनके प्रस्तुति रहल रहे । ओस्टके महोत्सव स्थलमे ढेलुवा चर्हुना, मचान (अँटुवा) चर्हुना, थारु संग्राहलयके अवलोकनके व्यवस्था रहल रहे ।

ओस्टेक थारु समुदायके टमान ढिक्री, अण्डीक भात, खुर्मा, बरिया, खरिया, अण्डीक रोटी, गेङगटाक टिना, घोंघीक टिना, सुरीक सिकार, रानाथारु समुदायके खानपान, डोटेली समुदायके खानपानके व्यवस्था फेन रहल रहे ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू