थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत ०३ सावन २६४८, बिफे ]
[ वि.सं ३ श्रावण २०८१, बिहीबार ]
[ 18 Jul 2024, Thursday ]
‘ राष्ट्रिय अपाङ महासंघ कहल– ’

प्रदेश सरकार सम्झौता कार्यान्वयन नैकरल

पहुरा | १४ मंसिर २०८०, बिहीबार
प्रदेश सरकार सम्झौता कार्यान्वयन नैकरल

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, १४ अगहन ।
राष्ट्रिय अपाङ महासंघ नेपाल ओ सुदूरपश्चिम प्रदेश सरकारविच हुइल पाँच बुँदे सम्झौता अभिन कार्यान्वयन नैहुइल राष्ट्रिय अपाङ महासंघ नेपाल जनैले बा ।

३२औं अन्तर्राष्ट्रिय अपाङ्ता दिवसके अवसरमे दिगो विकासके लक्ष्य प्राप्तीके प्रतिवद्धता, अपाङ्ता रहल व्यक्तिहुकनके अपनत्व ओ नेतृत्वसहितके ऐक्यवद्धता कना मुल नाराके साथ मनाई जैटी रहल दिवसिय कार्यक्रम अन्र्तगत राष्ट्रिय अपाङता महासंघ सुदूरपश्चिम प्रदेशके आयोजना ओ एचआइ÷यूएसएडके साझेदारीमे संचालित रिहयाव परियोजना अन्तर्गत स्वास्थ्य पुनस्र्थापना ओ अपाङता अधिकार सम्बन्धी सरोकारवाला निकायसे कैगिल कार्यक्रममे सहमति कार्यान्वयन नइहुइल बटागिल रहे ।

राष्ट्रिय अपाङ महासंघ नेपालके प्रदेश अध्यक्ष मानबहादुर साउँद २०८० असार १९ गते ओ २९ गते सामाजिक विकास मन्त्रालयके माननीय सामाजिक विकास मन्त्रीके अध्यक्षतामे बैठक बैठकके पाँच बुँदे सहमति करल मने कार्यान्वयनभर नइकरल बटैलै ।

सुदूरपश्चिम प्रदेशमे रहल अपाङ्ता रहल व्यक्तिहुकनके हक अधिकार स्थापित करैना उद्देश्यसे गैल असार १२ से १८ गतेसम्म शान्तिपूर्ण ¥याली, जुलुस, रिले अनसन, सिट्टि फुक्न, मुख्यमन्त्री गेट आघे धर्ना, अनसन, शरिरके कपडा फुकाके प्रदर्शनलगायत टमान विरोधके कार्यक्रम कैगिल रहे । उहे आन्दोलनके क्रममे असार १८ गते साँझ स्वयम माननीय मुख्यमन्त्री कमल बहादुर शाह आन्दोलन स्थलमे पुगके माग सम्बोधन कैना प्रतिवद्धता पश्चात आन्दोलन स्थगित करके वार्तामे गैल रहिट ।

अपाङता प्रादेशिक नीतिहे आवश्यक सल्लाह सुझाव संकलन करके क्याविनेटसे पास करके लागु कैना कहल रहे,’ महासंघके अध्यक्ष साउद कहलै, ‘मने विना सल्लाह माग मुद्दा नइसमेटके मनमौजी नीति बनागिल बा । जिहीसे अपाङता रहल व्यक्ति अधिकारसे बन्चित हुइटी गैल बटै ।’

प्रदेश सरकार ओ महासंघ विच हुइल सहमतिमे अपाङगता रहल व्यक्तिहुकनके वास्तविक आवश्यकतामे आधारित स्वास्थ्य पुनस्र्थापना सेवा, सहायक सामाग्री उत्पादन तथा मर्मत केन्द्र, अडियो लाईब्रेरी भवन, समावेसी खेलकुद संचालन महासंघके भवन निर्माण, सुप समावेसी विद्यालयके छात्रवास निर्माणके लाग थप पाँच करोड बजेट विनियोजन कैना कहल रहे ।

अपाङ्ता रहल व्यक्ति स्वास्थ्य शिक्षाके अधिकारके समेट बञ्चित हुइटी गैल अध्यक्ष साउँद बटैलै । सरकारी कार्यालय, विद्यालय, बैंक अपाङतामैत्री नइरहल ओरसे सेवा लेना कर्रा रहलफे उहाँ बटैलै । उहाँ कहलै, ‘पहिलेक बनल भौतिक संरचना अपाङतामैत्री नइहो । अब्बेफे बन्ना लौव संरचना अपाङता बनाई नइचाहल बटैलै ।

राष्ट्रिय अपाङ महासंघके प्रदेश महासचिव नन्दराज भट्ट अपाङता प्रादेशिक निर्देशन समितीके कार्यविधि संसोधन करके कार्यकारी उपाध्यक्षके व्यवस्था करके सक्कु मेरिक अपाङता रहल व्यक्तिहुकनके सहभागिता करैना कहलमे अभिन हुइल बटैलै ।

आ. व. २०८०/०८१ मे प्रदेश सरकारसे अपाङता रहल व्यक्तिहुकनके लाग विनियोजन करल बजेट ओ कार्यक्रम संचालन मापदण्ड बनाईबेर अपाङता रहल व्यक्तिहुकनके सहभागिता निर्माण कैना कहलेसेफे उ अनुरुप कार्यक्रम संचालन मापदण्ड निर्माण नइहुइल ओ सहमति बेगर अपाङता हुइल व्यक्तिसे संचालित संघ संस्थासंग कौनो सरोकार नइहुइना करके कार्य संचालन मापदण्ड निर्देशिका बनाके कार्यान्वयनमे नानल उहाँ बटैलै ।

नीति, कार्यक्रम ओ बजेटमे वेवास्ता करल ओरसे प्रदेश सरकारके गतिविधि ओ सामाजिक विकास कार्यालय, स्वास्थ्य कार्यालयके गतिविधिमे सहभागिता नइजनैनाफे महासचिव भट्ट बटैलै ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू