थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत २० फागुन २६४४, बिफे ]
[ वि.सं २० फाल्गुन २०७७, बिहीबार ]
[ 04 Mar 2021, Thursday ]

मुक्तक

पहुरा | १ फाल्गुन २०७७, शनिबार
  • 39
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    39
    Shares
मुक्तक

कुछ लिखु कैके कलम उठैठु कलम रूक जाइट् ।
मनके पोक्री डिलसे खोलु कठु मनमे नुक जाइट् ।।

बहुट बा, इच्छा चाहना यी जिन्गीम् कुछ करना मन
मै सपना डेख्टी रहि जिठु बहुट कुछ झुक जाइट् ।।

टीकापुर, कैलाली

  • 39
    Shares

जनाअवजको टिप्पणीहरू