थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत १९ फागुन २६४४, बुध ]
[ वि.सं १९ फाल्गुन २०७७, बुधबार ]
[ 03 Mar 2021, Wednesday ]

यूवाहुक्रे सुरु करलै ‘टोफू’ उद्योग

पहुरा | ११ फाल्गुन २०७७, मंगलवार
  • 481
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    481
    Shares
यूवाहुक्रे सुरु करलै ‘टोफू’ उद्योग

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, ११ फागुन ।
पनिरसे लगभग सबकोइ परचिति हुइ । मने, पनिर जस्टे डेखैना टोफूके बारेमे शायद कमहे पता हुइ । इहिनहे सोया पनिर फेन कहिजाइठ । यिहे टोफू उत्पादन लक्ष्य लेके सोम्मारके रोज धनगढी उपमहानगरपालिका वडा नम्बर ८ धनगढी गाउँमे हंस सोया पनिर उद्योग खुलल बा ।

कैलालीके कैलारी गाउँपालिका वडा नम्बर ७ भुइयाँफाटाके यूवा दशरथ चौधरी ओ हुकान ४ जाने संघरियाहुक्रे मिल्के टोफू उद्योगके सुरुवात करले बाटैं । अब्बे पुरन चौधरी ओ दशरथ चौधरी यकर उत्पादन ओ बजार प्रवद्र्धनमे लागल बटैं । उहाँहुक्रे सुदूरपश्चिममे सोया पनिर उत्पादन उद्योग संचालन करल पहिल प्रयास फेन रहल दावी करले बटैं ।

‘घरेलु तथा साना उद्योग कार्यालयमे टोफू उत्पादन उद्योग दर्ता नैहुइल जानकारी पैली,’ दशरथ कलैं, ‘टोफू पौष्टिक तत्वके मजा स्रोतके रुपमे मानल खाद्य बस्तु हो, यी भटमासके सोया मिल्कसे बनाजाइठ ।’

‘भारत लगायत विदेशमे यकर बरवार बजार रहलेसे फेन नेपालमे भरखर टोफू उत्पादन ओ उपभोग सुरु हुइटा,’ दुसर संचालक पुरन चौधरी कलैं, ‘टोफू दूधके पनिरके विकल्पके रुपमे फेन उपयोग करे सेकजाइठ ।’

संचालक पुरन भारत गुजरात प्रान्तके सूरतमे कुछ बरस काम करेबेर टोफुके परिकार खाइलपाछे सोया पनिरओर आकर्षण हुइल बटैलैं । उहाँ कलैं, ‘कुछ समय अपन घरही टोफू बनाके खैली, पाछे संघरियनसंग मिल्के उद्योग चलैना सोचके टोफू उत्पादनमे लग्ली ।’ टोफू उद्योग पहिल चो संचालन करल ओरसे सुरुवाटी चरणमे चुनौती फेन बा, बजार पैलेसे अवसर फेन बरवार पैना आश करल उहाँ बटैलै ।

अस्टेके, अब्बे मलेसिया रहल अपर्ण चौधरी ओ भुवन चौधरी विदेश कमाके स्वदेशमे कुछ करना उद्देश्यके साथ सोया पनिर उद्योगमे सहयोग करल बटैले बाटैं । ओहोर डडेल्धुरामे रहिके एकठो वित्तीय संस्थामे काम करटीरहल रामनरेश चौधरी टोफूके सम्भावित बजार बह्रिया डेखलओरसे यम्ले लागल बटैलैं ।

उद्योगके नेपाल मानव धर्म सेवा समिति सेती अञ्चल इञ्चार्ज सुवर्णा वाइजी एक कार्यक्रमके बीच उद्घाटन करले रहि ।

टोफू का हो ?

टोफू भटमासके सोया मिल्कसे बन्ना खाद्य पदार्थ हो । इ ठिक पनिरके जस्टे बना जाइठ, बस फरक अट्ना बा कि यम्ने सोया दूधके उपयोग करजाइठ । इ पनिर जस्टे डेखाइठ टबे यिहिनहे सोया पनिर फेन कठैं । टोफूमे क्याल्सियम, आइरन औ टमान औरे पौष्टिक तत्व मिलठ ।

टोफू खैनाके फाइदा

टोफू सिकारसे अधिक पौष्टिक और स्वास्थ्यवद्र्धक हुइ सेकठ । इ एक अइसिन आहार हो जेम्ने टमान मेरिक पौष्टिक खाद्य पदार्थ रहठ । इ मानव शरीरके समग्र स्वास्थ्य और विकासमे मद्दत करठ ।

टोफूके नियमित उपभोग करलेसे मोटापन कम करना, मधुमेहसम्बन्धी समस्या, हृदयरोग, मस्तिष्करोग, कोलेस्ट्रोल, क्यान्सर, एनिमिया, त्वचा ओ भुटला झरना समस्यासे छुटकरा करना विज्ञ लोगनके कहाइ बा । टोफू खैलेसे टमान फाइदा हुइलेसे फेन ढेर खैलेसे थाइराइड, ब्रेस्ट ट्यूमर, एलर्जीके समस्या हुइ सेकठ । यी शाहकारी खानाके लाग उपयूक्त मानजाइठ ।

  • 481
    Shares

जनाअवजको टिप्पणीहरू