थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत ११ कार्तिक २६४५, बिफे ]
[ वि.सं ११ कार्तिक २०७८, बिहीबार ]
[ 28 Oct 2021, Thursday ]
.
‘ शान्ति समाजसे १५ स्रष्टाहे सम्मान ’

रविना चौधरीहे श्रीनारायण दाहाल स्रष्टा सम्मान

पहुरा | १३ आश्विन २०७८, बुधबार
रविना चौधरीहे श्रीनारायण दाहाल स्रष्टा सम्मान

पहुरा समाचारदाता
धनगढी, १३ कुँवार ।
मानव अधिकार तथा शान्ति समाजसे १५ स्रष्टाहे सम्मान कैना हुइल बा । समाजसे स्रष्टा सम्मान अभियानअन्तर्गत स्थापित पुरस्कारसे १५ स्रष्टाहे सम्मान कैना निर्णय करल हो ।

समाजसे वर्ष २०७८ के श्रीनारायण दाहाल स्रष्टा सम्मान कैलालीके रविना चौधरीहे डेना निर्णय करल हो । भजनी नगरपालिका–९ (हाल धनगढी) बैठ्टी आइल चौधरी साहित्यिक क्षेत्रमे कलम चलैटी आइल बाटी । ओहकान २०७२ सालमे थारू भाषाके ‘ओँरी’ गजल संग्रह प्रकाशन रहल बा ।

ओस्टके महाप्रसाद रिजाल लोकतन्त्र स्रष्टा सम्मान श्रवण मुकारुङ भोजपुर, चन्द्रकला खनाल अहिंसा स्रष्टा सम्मान प्राडा वेणीमाधव ढकाल पाल्पा, कृष्णकुमारी दाहाल शान्ति स्रष्टा सम्मान वरिष्ठ पत्रकार रामरिझन यादव सिरहा ओ पवित्रादेवी चौलागाई मानव अधिकार स्रष्टा सम्मान विष्णुलाल कुमाल बाँकेहे डेना निर्णय करल हो ।

ओस्टके ज्ञानप्रसाद खनाल सहिष्णुता स्रष्टा सम्मान रामबहादुर पहाडी पाल्पा, राधादेवी दाहाल सद्भाव स्रष्टा सम्मान रत्ननिधि रेग्मी संखुवासभा ओ मानबहादुर रावल वातावरण स्रष्टा सम्मान रामेश्वरी पन्त रुपन्देहीहे प्रदान कैना निर्णय करल समाजके सभापति गोविन्द खनाल जानकारी डेलै ।

इ बरसके गणेशबहादुर श्रेष्ठ स्रष्टा सौगात प्रतिसरा सायमी मानन्धर भक्तपुर, भूमिप्रसाद बराल स्रष्टा सौगात मनु मञ्जिल सुनसरी, जोगमाया बराल स्रष्टा सौगात वीना थिङ तामाङ मकवानपुर, राधादेवी दाहाल स्रष्टा सौगात मनु विक पाल्पा, जनककुमारी रेग्मी स्रष्टा सौगात मेनका पोखरेल आचार्य काठमाडौँ, पद्यप्रसाद दाहाल स्रष्टा सौगात देवकी तिमल्सिना रोकाया हुम्ला, श्रीप्रसाद दाहाल स्रष्टा सौगात सुदेश सत्याल तनहुँहे प्रदान कैना निर्णय करल उहाँ बटैलै ।

सम्मानित स्रष्टाहुक्रनके नेपाली, संस्कृत, नेवारी, मैथिली, तामाङ, थारु, अवधी ओ हिन्दी भाषामा कृतिहरु प्रकाशित रहल बावै । महाकवि लक्ष्मीप्रसाद देवकोटाके जन्मजयन्तीके सेरोफेरोमे कार्यक्रम आयोजना कैके २० हजार रुपैयाँ पुरस्कार राशीसहित पुरस्कृत स्रष्टाहुक्रनहे सम्मान कैना कार्यक्रम रहल समाज जनैले बा ।

एक दशक आघेसे मासिक शान्ति काव्य प्रवाह आयोजना कैटी आइल शान्ति समाजसे साहित्यके आराधना ओ स्रष्टा सम्मानहे विशेष अभियानके रुपमे आघे बह्रैटी आइल बा ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू