थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत ०९ कार्तिक २६४३, अत्वार ]
[ वि.सं ९ कार्तिक २०७७, आईतवार ]
[ 25 Oct 2020, Sunday ]

सम्पादकीय

कोरोनासे सचेत हुके डस्या मनाई

कोरोनासे सचेत हुके डस्या मनाई

नेपालमे कोरोना भाइरसके संक्रमण समुदायस्तरमे फैलल बेला हिन्दु धर्मावलम्बीहुकनके महान् पर्व डस्या सुरु हुइल बा । कोरोना संक्रमण आउर ढेर फैले सेक्नाओरसे अब्बेक डस्या जो जहाँ बा, उहे मनाई पर्ना अवस्था आइल बा । नेपालके दैनिक ३ हजारसे
किसानहुकन तुरुन्त मलके व्यवस्था कर

किसानहुकन तुरुन्त मलके व्यवस्था कर

राज्यके संरचना बडलल मने किसानहुकनके पीडा अभिन जस्टाके टस्टे रहल बा । बर्खेबालीके लाग किसान मल नइपाइल कारण फसल सोचल जैसिन नैहुइल हो । अब्बे हिउदे बालीकफे सुरुवाट हुइल बा, गाउँघरमे धमाधम आलु लगवाइ, लाही बोवाईके काम सुरु हुइल बा ।
बालभोज न्यूनीकरण करी

बालभोज न्यूनीकरण करी

पहिलेक जवानामे थारु समुदाय भिटर डाईबाबा अपन लर्कनके छोटेम भोज कैना डेना चलन रहे । अटरा केल नाही लर्का भुरीम रहेबेर सम्ढा–सम्ढी जोरलेना, लर्का हुइटीकी डोना साटलेना चलन रहे, ओ छोटेम भोजविहा कैडेना चलन रहे । थारु समुदायमे केल नाही
हुलाकीके बसन्ता क्षेत्रमे निर्माणके टुंगो हाली लगाई

हुलाकीके बसन्ता क्षेत्रमे निर्माणके टुंगो हाली लगाई

बसन्ता वन क्षेत्र भिट्टरके दुई किलोमिटर हुलाकी सडक निर्माणके काम कहियासे सुरुवाट हुई कना अभिनसम टुंगो नाइ लागल हो । कैलालीमे पर्ना धनगढीसे सत्तीसमके ६२ किलोमिटर सडकमध्ये ४४ किलोमिटर पाँच बरस पहिले निर्माण हुइलेसे फेन दुई किलोमे
कोरोना समुदायमे पुगल, सर्तक रही

कोरोना समुदायमे पुगल, सर्तक रही

चीनके वुहान प्रान्तसे सुरुवाट हुइल कोरोना भाइरस (कोभिड–१९) विश्वभर टहल्का मचैटी अभिनसम ३ करोड ६४ लाख ७० हजारसे ढेर संक्रमित हुसेकल बाटै । उ मन्सेफे दश लाख ६१ हजारसे ढेरके ज्यान जासेकल बा । नेपालके हकमे कोरोना भाइरस पहिले–पहिले
कोरोना समुदायस्तरमे पुगल कि, सावधान हुई !

कोरोना समुदायस्तरमे पुगल कि, सावधान हुई !

लकडाउन खुललसंगे सुदूरपश्चिम प्रदेशमे कोरोना संक्रमणदर घटेक छोरके उल्टे बह्रटी गैल बा । पूर्वतयारी बिना एकैचोट्टे लकडाउन खुला कैना, सर्वसाधारण कोरोनाप्रति वेवास्ता करटी जैना ओ सरकारसे कानमे तेल दारके बैठल कारण कोरोना संक्रमण
बाढ व पखानसे सावधान हुइ

बाढ व पखानसे सावधान हुइ

तीन दिनसे लग्टारे बरसल परल पानीके कारण तराईके टमान क्षेत्र डुबानमे परल बा, कलेसे पहाडमे पखान गिरके धनजनके क्षति हुइल बा । लग्टारे बरसल पानीसे कैलाली जिल्लामे आइल बाढसे करिब ६ हजारसे ढिउर घर डुबानमे परल बा । कलेसे ३ जाने बाढमे
कोभिड–१९ बारे खेलवार नाकरी

कोभिड–१९ बारे खेलवार नाकरी

कोरोना भाइरस (कोभिड–१९) के कारण विश्व प्रभावित हुइल बा । कोरोना भाइरसके महामहारी फैलेबेर विश्वभर ढेर दिन लकडाउन कैना अवस्था आइल, जेकर कारण सक्कु क्षेत्रमे नइमजा प्रभाव परल ओ मुलुकके अर्थतन्त्र पूरा धारापमे परल बा । कोरोना भाइरसके
मुक्तकमैया पुनर्स्थापनामे सरकारके उदासिनता कहे ?

मुक्तकमैया पुनर्स्थापनामे सरकारके उदासिनता कहे ?

मुक्त कमैयाहुकनके संख्यात्मक तथ्यांकसे शतप्रतिशत मुक्त कमैयाहुक्रे थारु जातिके रहल डेखाइठ । थारु जाति यी क्षेत्रके आदिवासी फेन हुइट । कमैया कना शब्द जमिन तथा खेतीपातीसंग सम्बन्धित बा । समयके एक कालखण्डमे हाल घना रुपमे बसोवास
पहुरा दैनिकके १८ बरसके यात्रा

पहुरा दैनिकके १८ बरसके यात्रा

कहठै एक ठो टेलुवा लगैना भारी बाट नाइहो उहीहे बह्रा पौह्राके जवान कैना बहुट मिहिनेत, समय ओ खर्च लागठ जत्र लगाईबेर मिहिनेत नइलागठ । ओस्टे आज एक ठो पत्रिकाके प्रकाशन सुुरु जेफे करे सेकठ मने उहीहे निरन्तरटा डेना भारी बाट हो । थारु