थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत १३ अगहन २६४६, मंगर ]
[ वि.सं १३ मंसिर २०७९, मंगलवार ]
[ 29 Nov 2022, Tuesday ]
‘ बालिका बलात्कार ’

सांसद चौधरीसे घटना मिलाई खोजल आरोप

पहुरा | १६ असार २०७७, मंगलवार
सांसद चौधरीसे घटना मिलाई खोजल आरोप

उन्नती चौधरी
धनगढी, १६ असार ।
कैलालीके कैलारी गाउँपालिका–१ के ११ वर्षीया बालिकाहे बलात्कार करल आरोपमे प्रहरी एक युवकहे पक्राउ करले बा ।
बलात्कारके आरोपमे कैलारी–२ के २९ वर्षीय दीपेन्द्र कुश्मी पक्राउ परल हुइट ।
३२ जेठमे युवक पसलमे बोलाके मुहमे कपडा थेसके बलात्कार करल पीडितसे जिल्ला प्रहरी कार्यालयमे डेहल जाहेरीमे उल्लेख बा । मने, घटना ढिला करके सार्वजनिक हुइल बा । जोरसे रक्तस्राव हुके वेहोस हुइल बालिकाहे उपचारके लाग सेती प्रादेशिक अस्पताल, धनगढी लैगिलपाछे केल यी घटना सार्वजनिक हुके आरोपित युवक ११ असारमे पकाउ परल हुइट ।
ओकरपाछे पीडक पक्षसे रकम डेके मिलैना प्रयास करटी घटना सार्वजनिक करलेसे ज्यान लेना धम्की डेहल पीडित बालिकाके आफन्त बटैले बाटै ।
अस्पतालमे उपचारके क्रममे यौनाङ चिरल डेखलपाछे एक नर्ससे सोधपुछ करेबेर बालिका सक्कु बाट बटाइल रहिट । नर्सके पहलमे जिल्ला प्रहरी कार्यालयमे १० असारमे जाहेरी डहेल पीडितके आफन्त जानकारी डेलै ।
लउण्डा पसलमे बोलाके मुहमे कपडा कोचके बलात्कार करल ओ घटनाबारे कुहीहे बटैलेसे मरना धम्की डेहल बालिका बयान डेले बाटी ।

घटना मिलाई खोजल आरोप
बालिकाके आफन्तके अनुसार, आरोपित युवकके परिवार गाउँमे घटना मिलैना प्रयास करटी बाहेर लैगिलेसे मजा नइहुइना धम्की डेले रहिट । आरोपित चौधरीके डाडु गौरीशंकर चौधरीके पहलमे मिलैना ओ धम्की डेना काम हुइल पीडित पक्षके कहाई बा । गौरीशंकर प्रतिनिधिसभाके सांसद तथा पूर्व कृषिमन्त्री हुइट ।
बालिकाके एक आफन्त कहलै, “घटना प्रहरीके थेन नइलैजैना बरु पैसा कटरा चाही डेबी, मने घटना सार्वजनिक करलेसे टुहिन ओ डाईनहे मारडेब कहले बाटै ।’ पीडित बालिकाके कहल अनुसार घटनाबारे कुहीहे कहलेसे मारडेना धम्की डेहल बटाइल एक
प्रहरी अधिकारी बटैलै ।
अब्बेफे घटना मिलैना दबाब अइटी रहल ओरसे अपनेहुकनहे गाउँमे बैठना असुरक्षित हुइल बालिकाके परिवार बटैले बाटै । “हम्रे गरिब बाटी, ओइने आर्थिक ओ राजनीतिक रुपमे बल्गर बाटै, न्याय नइपैबी कि कना चिन्ता बा’, बालिकाके परिवारके एक सदस्य कहलै ।

मै दबाब डेले नइहुः सांसद चौधरी
सांसद गौरीशंकर चौधरी अपने कौनोफे दबाब नइडेहल प्रतिक्रिया डेले बाटै । घटना मिलाई खोजल आरोप लागल विषयमे पुछेबेर उहाँ कहलै, ‘कुछ मिडियासे महीहे घटना मिलाई खोजल कहिके लिख्ले बाटै, मने मै घटना सत्य हो नइहो कहिके पुछल केल हो । घटना सत्य हुइलेसे दोषीहे कानूनसे सजाय डेहे परठ ओ पीडित न्याय पाई परठ कहले बाटु ।’
घटना सार्वजनिक हुइल दिन पीडितके बाबासंग टेलिफोनमे छोट बाटचित करल चौधरी बटैलै । “मने मिलैना वा और कौनो दबाब देहे नइहुके घटनाके बारेमे बुझ्न केल कैनु,’ उहाँ कहलै ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू