थारु राष्ट्रिय दैनिक
भाषा, संस्कृति ओ समाचारमूलक पत्रिका
[ थारु सम्बत २९ सावन २६४६, अत्वार ]
[ वि.सं २९ श्रावण २०७९, आईतवार ]
[ 14 Aug 2022, Sunday ]

टीकापुर आन्दोलन संस्मरण–२०२० ख्याल बगाल कार्यक्रम हुइना

पहुरा | २ भाद्र २०७७, मंगलवार
टीकापुर आन्दोलन संस्मरण–२०२० ख्याल बगाल कार्यक्रम हुइना

पहुरा समाचारदाता
धनगढी,२ भदौ ।
टीकापुर घटनाके चिरफार कैना उद्देश्यसे यिहे भदौ ४ से ६ गतेसम ‘टीकापुर आन्दोलन संस्मरण–२०२० ख्याल बगाल’ कार्यक्रम हुइना बा ।

थारु पत्रकार संघ नेपाल ओ ख्याल बगालके आयोजनामे भर्चुअल जुम क्लाउड मार्फत फेसबुक लाईभ मार्फत बहस एवम छलफल कार्यक्रम हुइना थारु पत्रकार संघ नेपालके अध्यक्ष सन्तोष दहित बटैलै ।

टीकापुर विद्रोहके सम्झनामे आयोजना हुई लागल उ कार्यक्रममे टीकापुर आन्दोलनके पृष्ठभूमि, आन्दोलनके औचित्य तथा उहीसे श्रृजित परिस्थतिके साथे राज्य पुनर्संरचनाके अपुरो यात्राके विषयमे छलफल केद्रित रहना उहाँ बटैलै ।

कार्यक्रमके लक्षित व्यक्ति टीकापुर आन्दोलनसंग सम्बन्धित व्यक्ति, यीबारे जानकारी लेहे चहुइया, अध्ययन करे चाहना व्यक्तित्व एवं अनुसन्धानकर्ता रहना ओ टमान मिडिया मार्फत विश्वभर सुने ओ हेरेसेक्ना सेक्ना जनागिल बा ।

भर्चुअल जुम क्लाउड मार्फत फेसबुक लाईभसे यिहे भदौ ४ गतेसे ६ गतेसम तीन दिन दुहपर २ से ३ः३० सम सुने ओ हेरेसेक्ना सेक्ना आयोजक जनैले बा ।

टीकापुर आन्दोलन संस्मरण–२०२० ख्याल बगाल कार्यक्रमके पहिल दिन टीकापुर विद्रोहः अभियन्ता दृष्टिबारे वहस हुइना कहल बा । जेम्ने बोलुइया लक्ष्मण थारु (संयोजक, थरुहट थारुवान संयुक्त संघर्ष मोर्चा), दिलबहादुर थारु (मानव अधिकारकर्मी), मिनराज चौधरी (सह–महामन्त्री), थारु कल्याणकारिणी सभा दाङ देउखर रहल बाटै । पहिल दिनके सहजकर्ताः इन्दु थारु रहल बाटी ।

दुसर दिन टीकापुर आन्दोलनमे मिडियाके निस्पक्षता विषयमे बहस हुइना कहल बा । जेकर वक्तामे चन्द्रकिशोर (विश्लेषक, लेखक), गोविन्द आचार्य (अध्यक्ष नेपाल पत्रकार महासंघ), कृष्णराज सर्वहारी (वरिष्ठ पत्रकार, लेखक) गणेश चौधरी (कान्तिपुर संवाददाता, कैलाली) रहना जनागिल बा । दुसर दिनके सहजकर्ताः ठाकुरसिंह थारु (पत्रकार) रहल बाटै । टिसर दिन टीकापुर आन्दोलन पाछेक कार्यदिशाबारे वहस हुइना जनागिल बा । जेकर लाग वक्ता खोज्टी रहल आयोजक जनैले बा ।

जनाअवजको टिप्पणीहरू